A A A A A
Bible Book List

यिर्मयाह 44Awadhi Bible: Easy-to-Read Version (ERV-AWA)

यहूदा अउर मिस्र क लोगन क यहोवा क सँदेसा

44 यिर्मयाह क यहोवा क एक ठु सँदेसा मिला। इ सँदेसा मिस्र मँ रहइवाले यहूदा क सबहिं लोगन बरे रहा। इ सँदेसा यहूदा क ओन लोगन बरे रहा जउन मिग्दोल, तहपन्हेस, नोप अउर दविखनी मिस्र मँ रहत रहेन। सँदेसा इ रहा: “इस्राएल क परमेस्सर सर्वसक्तीमान यहोवा कहत ह, ‘तू लोग ओन भयंकर घटनन क लख्या जेनका मइँ यरूसलेम नगर अउर यहूदा क दूसर सबहिं नगरन क बिरुद्ध लाएउँ। उ सबइ नगर आजु पाथरन क ढेर अहइँ। हुवाँ कउनो नाहीं रहत ह। उ सबहिं जगह नस्ट कीन्ह गएन काहेकि तू अउर ओनमाँ रहइवाले दूसर लोग बुरे करम किहन। ओन लोग दूसर देवतन क बलि भेंट किहन, जेका तोहार लोग अउर तोहार पुरखन पहिले नाहीं जानत रहेन। अउर मोका वोधित किहस। मइँ आपन नबी ओन लोगन क बार-बार पठएउँ। उ सबइ नबी मोर सेवक रहेन। ओन नबियन मोर सँदेसा दिहन अउर लोगन स कहेन, “इ भयंकर काम जिन करा जेहसे मइँ घिना करत हउँ। काहेकि तू पचे देवमूरतियन क पूजा करत अहा।” किन्तु ओन लोग नबियन क एक न सुनेन। उ पचे ओन नबियन पइ धियान नाहीं दिहन। ओन लोग दुट्ठता भरे करम करब नाहीं तजेन। उ पचे दूसर देवतन क बलि भेंट करब बन्द नाहीं किहेन। एह बरे मइँ आपन किरोध ओन लोगन क बिरुद्ध परगट किहेउँ। मइँ यहूदा क नगरन अउर यरूसलेम क सड़कियन क सजा दिहेउँ। मोर किरोध यरूसलेम अउ यहूदा क नगरन क सूना पाथरन क देर बनाएस, जइसे उ सबइ आजु अहइँ।’

“एह बरे इस्राएल क परमेस्सर सर्वसक्तीमान यहोवा इ कहत ह: ‘तू पचे मनइयन, मेहररूअन, गदेलन अउर नान्ह गदेलन क यहूदा क धरती स दूर ले जाइके अउर हिआँ पइ कउनो क धोड़िके आपन क चोट काहे पहोंचावत अहा। लोगो देवमूरतियन बनाइके तू पचे मोका काहे वोधित करब चाहत अहा? अब तू पचे मिस्र मँ रहत अहा अउर अब मिस्र क लबार देवतन क भेंट चढ़ाइके तू पचे मोका वोधित करत अहा। लोगो तू पचे आपन क नस्ट कइ डउब्या। इ तोहार पचन्क आपन दोख क कारण होइ। तू पचे आपन क कछू अइसा बनाइ लेब्या कि दूसर रास्ट्रन क लोग, तोहार पचन्क बुराई करिहीं अउर पृथ्वी क दूसर रास्ट्रन क लोग तोहार पचन्क मजाक उड़इहीं। का तू पचे ओन दुट्ठता भरे करमन क बिसरि चुका अहा जेनका तोहार पुरखन किहन? का तू पचे ओन दुट्ठता स भरे कामन क बिसरि चुका अहा जेनका यहूदा क राजा अउर रानिनियन किहन? का तू पचे ओन दुट्ठता स भरे करमन क बिसरि चुका अहा जेनका तू पचे अउर तोहार मेहररूअन यहूदा क धरती पइ अउर यरूसलेम क गलियन पइ किहन? 10 आज भी यहूदा क लोगन आपन क विनम्र नाहीं बनाएन। उ पचे मोका कउनो सम्मान नाहीं दिहन अउर ओन लोग मोर सिच्छन क अनुसरण नाहीं किहन। उ पचे ओन नेमन क पालन नाहीं किहन जेनका मइँ तू पचन्क अउर तोहरे पचन्क पुरखन क दिहेउँ।’

11 “एह बरे इस्राएल क परमेस्सर सर्वसक्तीमान यहोवा जउन कहत ह, उ इ अहइ: ‘मइँ तू पचन्पइ भयंकर बिपत्ति ढावइ क निहचइ किहे हउँ। मइँ यहूदा क पूरे परिवार क नस्ट कइ देब। 12 यहूदा क थोड़ा स लोग ही बचा रहेन। उ सबइ लोग हिआँ मिस्र मँ आएन ह। किन्तु मइँ यहूदा परिवार क ओन कछू बचे लोगन क नस्ट कइ देब। उ सबइ तरवारे क घाट उतरिहीं या भूख स मरिहीं। उ सबइ कछू अइसा होइहीं कि दूसर रास्ट्रन क लोग ओनके बारे मँ बुरा कहिहीं। दूसर रास्ट्र ओहसे भयभीत होइहीं जउन लोगन क संग घटित होइ। उ सबइ लोग अभिसाप बाणी बन जइहीं। दूसर रास्ट्र यहूदा क ओन लोगन क अपमान करिहीं। 13 मइँ ओन लोगन क सजा देब जउन मिस्र मँ रहइ चला गवा अहइँ। मइँ ओनका सजा देइ बरे तरवार, भूख अउर भयंकर बीमारी क उपयोग करब। मइँ ओन लोगन क वइसे ही सजा देब जइसे मइँ यरूसलेम नगर क सजा दिहेउँ। 14 एन थोड़े बचे भएन मँ स, जउन मिस्र मँ चला गवा अहइँ, कउनो भी मोरी सजा स नाहीं बची। ओनमाँ स कउनो भी यहूदा वापस आवइ बरे नाहीं बच पाई। उ सबइ लोग यहूदा वापस लउटब अउर हुआँ रहब चाहत हीं किन्तु ओनमाँ स एक भी मनई सायद कछू बचि निकरइ वालन क अलावा वापस नाहीं लउटी।’”

15 मिस्र मँ रहइवाली यहूदा क मेहररूअन मँ स अनेक दूसर देवतन क बलि भेंट करत रहीं। ओनकर भतारन एका जानत रहेन किन्तु ओनका रोकत नाहीं रहेन। हुआँ यहूदा क लोगन क मिस्र मँ एक बिसाल समूह बटुरा होत रहा। ओन सबहिं मनइयन यिर्मयाह स कहेन, 16 “हम यहोवा क सँदेसा क नाहीं सुनब जउन तू पचे देब्या। 17 हम सरगे क रानी क बलि भेंट करइ प्रतिग्या कीन्ह ह अउर हम उ सब करब जेकर हम प्रतिग्या कीन्ह ह। हम ओकर पूजा मँ बलि चढ़ाउब अउर पेय भेंट देब। इ हम अतीत मँ कीन्ह अउर हमार पुरखन, राजा लोग अउर हमार पदाधिकारियन पुराने जमाने मँ इ किहस। हम सब यहूदा क नगरन अउर यरूसलेम क सड़कियन पइ इ किहस। जउने दिन हम सरगे क रानी क पूजा करत रहे हमरे लगे बहोत अन्न होत रहा। हम सफल होत रहे। हम लोगन क कछू भी बुरा नाहीं भवा। 18 किन्तु तबहिं हम लोग सरग क रानी पूजा तजि दीन्ह हम ओका पेय भेंट देब बन्द कइ दीन्ह। जब स हम ओकर पूजा मँ उ पचे काम बन्द किहन तब स ही सबइ समस्या पइदा भइन ह। हमार लोग तरवार अउ भूख स मरे अहइँ।”

19 तब मेहररूअन बोल पड़ी। उ पचे यिर्मयाह स कहेन, “हमरे भतारन जानत रहेन कि हम का करत रहे। हम सरग क रानी क बलि देइ बरे ओनसे मंजूरी लीन्ह रहे। दाखरस भेंट चढ़ावइ बरे हम ओनकर मंजूरी पाए रहे। हमरे भतारन इ भी जानत रहेन कि हम एक अइसी खास रोटी बनावत रहे जउन ओनके तरह देखाई पड़त रही।”

20 तब यिर्मयाह ओन सबहिं मेहररूअन अउर मनसेधुअन स बातन किहस। उ ओन लोगन स बातन किहस जउन उ सबइ बातन अबहिं कहे रहेन। 21 यिर्मयाह ओन लोगन स कहेस, “यहोवा क याद रहा कि तू पचे यहूदा नगर अउर यरूसलेम क सड़कियन पइ बलि भेंट किहे रह्या। तू पचे अउर तोहार पुरखन, तोहार राजा लोग, तोहार अधिकारियन अउर देस क लोग ओका किहन। यहोवा क याद रहा अउर उ तोहरे पचन्क कीन्ह गए करमन क बारे मँ सोचेस। 22 एह बरे यहोवा तोहरे पचन्क अउर जियादा चुप नाहीं रहि सका। यहोवा ओन भयंकर करमन स घिना किहेस जउन तू पचे किहा। इहइ बरे यहोवा तू पचन्क देस क सूना रेगिस्तान बनाइ दिहस। अब हुआँ कउनो मनई नाहीं रहत। दूसर लोग उ देस क बारे मँ बुरी बातन कहत हीं। 23 उ सबइ सबहिं बुरी घटनन तोहरे पचन्क संग घटित काहेकि तू पचे दूसर देवतन क बलि भेंट किहा। तू पचे यहोवा क खिलाफ पाप किहा। तू पचे यहोवा क आग्या क पालन नाहीं किहा। तू पचे ओकरे उपदेसन या ओकर दीन्ह नेमन क अनुसरण नाहीं किहा। तू पचे ओकरे संग कीन्ह गइ करार क पालन नाहीं किहा।”

24 तब यिर्मयाह ओन सबहिं मनसेधुअन अउ मेहररूअन स बातन किहस। यिर्मयाह कहेस, “मिस्र मँ रहइवाले यहूदा क तू सबहिं लोगो यहोवा क हिआँ स सँदेसा सुना: 25 इस्राएल क लोगन क परमेस्सर सर्वसक्तीमान यहोवा कहत ह: ‘मेहररूओ, तू पचे उ किहा जउन तू पचे करइ क कहया। तू पचे कहिउ, “हम पचे जउन प्रतिग्या कीन्ह ह ओकर पालन हम करब। हम प्रतिग्या कीन्ह ह कि हम सरग क देवी क बलि भेंट करब अउर पेय भेंट डाउब।” एह बरे अइसा करति रहा। उ करा जउन तू पचे करइ क प्रतिग्या किहा ह। आपन प्रतिग्या क पूरा करा।’ 26 किन्तु मिस्र मँ रहइवाले सबहिं लोगो यहोवा क सँदेसा सुना: ‘मइँ आपन बड़े नाउँ क उपयोग करत भए इ प्रतिग्या कीन्ह ह: मइँ प्रतिग्या करत हउँ कि अब मिस्र मँ रहइवाला यहूदा क कउनो भी मनई प्रतिग्या करइ बरे मोरे नाउँ क उपयोग कबहुँ नाहीं कइ पाइ। उ पचे फुन कबहुँ नाहीं कहिहीं, “जइसा कि यहोवा सास्वत अहइ….।” 27 मइँ यहूदा क ओन लोगन पइ नजर रखत हउँ। किन्तु मइँ ओन पइ नजर ओनकर देखरेख बरे नाहीं रखत हउँ। मइँ ओन पइ चोट पहोंचावइ बरे नजर रखत हउँ। मिस्र मँ रहइवाले यहूदा क लोग भूख स मरिहीं अउर तरवार स मारा जइहीं। उ पचे तब तलक मरत चला जइहीं जब तलक उ पचे खतम नाहीं होतेन। 28 यहूदा क कछू लोग तरवार स मरइ स बचि निकरिहीं। उ पचे मिस्र स यहूदा वापस लउटिहीं। किन्तु बहोत थोड़ा स यहूदा क लोग बचि निकरिहीं। तब यहूदा क बचे भए उ पचे लोग जउन मिस्र मँ आइके रहिहीं इ समझिहीं कि केकर सँदेसा घटित होत ह। उ पचे जानिहीं कि मोर सँदेसा अथवा ओनकर सँदेसा सच निकरत ह। 29 लोगो मइँ तू पचन्क एकर प्रमाण देब’ इ यहोवा क हिआँ स सँदेसा अहइ कि ‘मइँ तू पचन्क मिस्र मँ सजा देब। तब तू पचे निहचइ ही समुझ जाब्या कि तू पचन्क चोट पहोंचावइ क मोर प्रतिग्या, फुरइ ही घटित होइ। 30 जउन मइँ कहत हउँ, इ उ अहइ, होप्रा फिरौन मिस्र क राजा अहइ। ओकर दुस्मन ओका मार डावइ चाहत हीं। मइँ होप्रा फिरौन क ओकरे दुस्मन क देब। सिदकिय्याह यहूदा क राजा रहा। नबूकदनेस्सर सिदकिय्याह क दुस्मन रहा अउर मइँ सिदकिय्याह क ओकरे दुस्मन क दिहेउँ। उहइ तरह मइँ होप्रा फिरौन क ओकरे दुस्मन क देब।’”

Awadhi Bible: Easy-to-Read Version (ERV-AWA)

Awadhi Bible: Easy-to-Read Version Copyright © 2005 World Bible Translation Center

  Back

1 of 1

You'll get this book and many others when you join Bible Gateway Plus. Learn more

Viewing of
Cross references
Footnotes