A A A A A
Bible Book List

यिर्मयाह 14Awadhi Bible: Easy-to-Read Version (ERV-AWA)

सूखा पड़ब अउर लबार नबी

14 इ यिर्मयाह क सूखा क बारे मँ यहोवा क सँदेस अहइ:

“यहूदा रास्ट्र ओन लोगन बरे रोवत अहइ जउन मरि गवा अहइँ।
    यहूदा नगर क लोग दुर्बल, अउर दुर्बल होत जात अहइँ।
उ सबइ लोग भुइँया पइ लोटिके सोक मनावत हीं।
    यरूसलेम नगर स एक चीख परमेस्सर क लगे पहोंचत अहइ।
लोगन क प्रमुख आपन सेवकन क पानी लिआवइ बरे पठवत हीं।
    सेवक वुंडन पइ जात हीं।
    किन्तु उ पचे कछू भी पानी नाहीं पउतेन।
सेवक खाली बर्तन लइके लउटत हीं।
    एह बरे उ पचे लज्जित अउर परेसान अहइँ।
    उ पचे अपने मूँड़ क लज्जा स ढाँकि लेत हीं।
कउनो भी फसल बरे भूँइया तइयार नाहीं करत।
    भूइँया पइ बर्खा नाहीं होत,
किसान हतास अहइँ।
    एह बरे उ पचे आपन सिर लज्जा स ढाँपि लेत हीं।
हिआँ तलक कि हिरनी भी आपन नवा जन्मत बच्चा क खेत मँ अकेल्ला छोड़ देत ह।
    उ वइसा करत ह काहेकि हुआँ घास नाहीं अहइ।
जंगली गदहन नंगी पहाड़ी पइ खड़ा होत हीं।
    उ पचे सियार क तरह हवा सूँघत हीं।
किन्तु ओनकर आँखिन क कउनो चरइ की चीज नाहीं देखाइ पड़त।
    काहेकि चरइ जोग्ग हुवाँ कउनो पौधन नाहीं अहइँ।

“हम जानित ह कि इ सब कछू हमरे अपराध क कारण अहइ।
    अउर हम पचे एकर अधिकारी अहइ किन्तु हे यहोवा,
    आपन अच्छे नाउँ बरे हमार मदद करा।
हम अंगीकार करित ह कि हम लोग तोहका कइउ दाई तजा ह।
    हम लोग तोहरे खिलाफ पाप किहा ह।
परमेस्सर, तू इस्राएल क आसा अहा।
    विपत्ति क दिनन मँ तू इस्राएल क बचाया।
किन्तु अब अइसा लागत ह कि तू इ देस मँ अजनबी अहा।
    अइसा प्रतीत होत ह कि तू उ यात्री अहा जउन एक रात हिआँ ठहरा होइ।
तू उ मनई क समान लगत अहा जेह पइ अचानक हमला कीन्ह गवा होइ।
    तू उ फउजी सा लगत अहा जेकरे लगे कउनो क बचावइ क ताकत न होइ।
किन्तु हे यहोवा, तू हमरे संग अहा।
    हम तोहरे नाउँ स गोहरावा जात अही, एह बरे हमका बेसहारा जिन तजा।”

10 यहूदा क लोगन क बारे मँ यहूदा जउन कहत ह, उ इ अहइ: “यहूदा क लोग फुरइ मोका तजइ मँ खुस अहइँ। उ सबइ लोग मोका तजब अब भी बन्द नाहीं करतेन। एह बरे अब यहोवा ओनका नाहीं अपनाई। अब यहोवा ओनके बुरे करमन क याद राखी जेनका उ पचे करत हीं। यहोवा ओनका ओनके पापन बरे सजा देइ।”

11 तब यहोवा मोहसे कही, “यिर्मयाह, यहूदा क लोगन बरे कछू अच्छा होइ, एकर पराथना जिन करा।” 12 यहूदा क लोग उपवास कइ सकत हीं अउर मोहसे पराथना कइ सकत हीं। मुला मइँ ओनकर पराथनन नाहीं सुनब। हिआँ तलक कि इ सबइ लोग होमबलि अउर अन्न भेट चढ़इहीं तउ भी मइँ ओन लोगन क नाहीं अपनाउब। मइँ यहूदा क लोगन क जुद्ध मँ नस्ट करब। मइँ ओनकर खइया क छोर लेब अउर यहूदा क लोग भूखन मरिहीं अउर मइँ ओनका भयंकर बीमारियन स बर्बाद करब।

13 किन्तु मइँ यहोवा स कहेउँ, “हमार सुआमी यहोवा। नबी लोगन स कछू अउर कहत रह्या। उ पचे यहूदा क लोगन स कहत रहेन, ‘तू लोग दुस्मन क तरवार स दुःख नाहीं उठउब्या। तू लोगन क कबहुँ भूख स कस्ट नाहीं होई। यहोवा तू पचन्क इ देस मँ सान्ति देइ।’”

14 तब यहोवा मोहसे कहेस, “यिर्मयाह, उ सबइ नबी मोरे नाउँ पइ झूठा उपदेस देत अहइँ। मइँ ओन नबियन क नाहीं पठएउँ मइँ ओनका कउनो आदेस या कउनो बात नाहीं किहेउँ उ सबइ नबी लबार कल्पनन, ब्यर्थ जादू अउर आपन झूठे दर्सन क उपदेस करत अहइँ। 15 एह बरे ओन नबियन क बारे मँ जउन मोरे नाउँ पइ उपदेस देत अहइँ, मोर कहब इ अहइ। मइँ ओन नबियन क नाहीं पठएउँ। ओन नबियन कहेन, ‘कउनो भी दुस्मन तरवार स इ देस पइ हमला नाहीं करी। इ देस मँ भुखमरी कबहुँ नाहीं होइ।’ उ सबइ नबी भूखन मरिहीं अउर दुस्मन क तरवारे घाट उतारा जइहीं। 16 अउर जउन लोगन स उ सबइ नबी बात करत हीं यरूसलेम क गलियन पइ लोकाइ दीन्ह जइहीं। उ सबइ लोग भूखन मरिहीं अउर दुस्मन क तरवारे क घाट उतारा जइहीं। कउनो मनई ओनका या ओनकर मेहररूअन या ओनकर पूतन या ओनकर बिटियन क दफनावइ बरे जिन्दा नाहीं रही। मइँ ओनका ओनकइ बुरा करम बरे सजा देब।

17 “यिर्मयाह, इ सँदेसा यहूदा क लोगन क द्या:

‘मोर आँखिन आँसुअन स भरी अहइँ।
    मइँ बिना रूके दिन-रात रोउब।
मइँ आपन वुँमारी बिटिया बरे रोउब।
    मइँ आपन लोगन बरे रोउब।
काहेकि कउनो ओन पइ प्रहार किहस अउर ओनका कुचर डाएस।
    उ पचे बुरी तरह घायल कीन्ह गवा अहइँ।
18 जदि मइँ खेत मँ जात हउँ
    तउ मइँ ओन लोगन क लखत हउँ जउन तरवार क घाट उतारि गवा अहइँ।
जदि मइँ नगर मँ जात हउँ
    मइँ बहोत स बीमारियन लखत हउँ, काहेकि लोगन क लगे भोजन नाहीं अहइ।’
याजक अउ नबी दुइनउँ ही आपन सेवन क बेचत हीं,
    किन्तु उ ना समझ अहइ।”

19 “हे यहोवा, का तू पूरी तरह यहूदा रास्ट्र क तजि दिहा ह यहोवा,
    का तू सिय्योन स घिना करत ह
तू एका बुरी तरह स चोट किहा ह कि हम फुन स नीक नाहीं बनाइ जाइ सकित।
    तू वइसा काहे किहा?
हम सान्ति क आसा रखत रहे,
    किन्तु कछू भी नीक नाहीं भवा।
हम लोग घाव भरइ क समइ क प्रतीच्छा करत रहे,
    किन्तु सिरिफ त्रास आवा।
20 हे यहोवा, हम जानित ह कि हम बहोत बुरा लोग अही,
    हम जानित ह कि हमरे पुरखन बुरे करम किहेन।
    हाँ, तोहरे खिलाफ पाप किहा।
21 हे यहोवा, आपन नाउँ क अच्छाई बरे तू हमका धवका दइके दूर न करा।
    आपन सम्माननीय सिंहासने क गौरव क न हटावा।
हमरे संग कीन्ह गइ करार क याद राखा
    अउर एका जिन तोड़ा।
22 विदेसी देवमूरतियन मँ बर्खा लिआवइ क सक्ति नाहीं अहइ,
    अकासे मँ पानी बरसावइ क सक्ति नाहीं अहइ।
सिरिफ तू ही हमार आसा अहा,
    एक मात्र तू ही अहा जउन इ सब कछू बनाया ह।”

Awadhi Bible: Easy-to-Read Version (ERV-AWA)

Awadhi Bible: Easy-to-Read Version Copyright © 2005 World Bible Translation Center

  Back

1 of 1

You'll get this book and many others when you join Bible Gateway Plus. Learn more

Viewing of
Cross references
Footnotes