A A A A A
Bible Book List

यहेजकेल 28Awadhi Bible: Easy-to-Read Version (ERV-AWA)

सोर सोचत ह, उ परमेस्सर ह

28 यहोवा क बचन मोका मिला। उ कहेस, “हे मनई क पूत, सोर क राजा स कहा। ‘मोर सुआमी यहोवा इ कहत ह:

“‘तू आपन बरे बहोत उच्च सोचत ह
    अउर तू कहत अहा, “मइँ परमेस्सर अहउँ!
मइँ समुद्र क मध्य मँ
    देवतन क आसन पइ बइठन हउँ।”

“‘किन्तु तू मनई अहा, परमेस्सर नाहीं।
    तू सिरिफ सोचत अहा कि तू परमेस्सर अहा।
तू सोचत अहा तू दानिय्येल स बुद्धिमान अहा।
    तू समुझत अहा कि तू सारे रहस्यन क जानि लेब्या।
आपन बुद्धि अउ आपन समुझ स।
    तू सम्पत्ति खुद कमाया ह
अउर तू आपन कोसागार मँ
    सोना चाँदी राख्या ह।
आपन तीब्र बुद्धि अउ बइपार स
    तू आपन सम्पत्ति बढ़ाया ह,
अउर अब तू उ सम्पत्ति क कारण
    गर्वीला अहा।

“‘एह बरे मोर सुआमी यहोवा इ कहत ह:
सोर, तू सोच्या तू परमेस्सर क तरह अहा।
मइँ अजनबियन क तोहरे खिलाफ लड़इ बरे लिआउब।
    उ पचे रास्ट्रन मँ बड़े भयंकर अहइँ।
उ पचे आपन तरवारन बाहेर खिंचिहीं
    अउर ओन सुन्नर चिजियन क खिलाफ चलइहीं जेनका तोहार बुद्धि कमाएस।
    उ पचे तोहरे गौरव क मटियामेट करिहीं।
उ पचे तोहका गिराइके कब्र मँ पहोंचइही।
    तू उ मल्लाह क तरह होब्या जउन समुद्र मँ मरा।
उ मनई तोहका मारि डाइ।
    का अब भी तू कहब्या, “मइँ परमेस्सर हउँ?”
उ समइ उ तोहका अपने अधिकार मँ करी।
    तू समुझ जाब्या कि तू मनई अहा, परमेस्सर नाहीं।
10 तू अजनबियन क हाथ बिदेसियन क जइसा मारि डावइ जाइहीं।
    इ घटनन होइहीं काहेकि मोरे लगे आदेस-सक्ति अहइ।’”
मोर सुआमी यहोवा इ सबइ बातन कहेस।

11 यहोवा क बचन मोका मिला। उ कहेस, 12 “मनई क पूत, सोर क राजा क बारे मँ करूण गीत गावा। ओहसे कहा, ‘मोर सुआमी यहोवा इ कहत ह:

“‘तू सम्पूर्णता क आर्दस रहेन।
    तू बुद्धिमानी स परिपूर्ण रह्या, तू पूरी तरह सुन्नर रह्या,
13 तू परमेस्सर क बगीचा एदेन मँ रह्या।
तोहरे लगे हर एक बहुमूल्य रतन रहेन जइसे:
    लाल, पुखराज, हीरा,
    फिरोजा, गोमेद, जस्पर
    नीलम, हरितमणि अउ नीलमणि।
अउर इ सबइ हर एक रतन सोने मँ जुड़ा रहेन।
    तोहका इ सुन्नरता प्रदान कीन्ह गइ रही जउने दिन तोहार जनम भवा रहा।
    परमेस्सर तोहका सक्तीसाली बनाएस।
14 तू चुने भए करूब सरगदूत रह्या।
    तोहार पखना मोरे सिंहासने पइ फइला रहेन
अउर मइँ तोहका परमेस्सर क पवित्तर पर्वत पइ धरेउँ।
    तू ओन रत्नन क बीच चल्या जउन आगी क तरह कौंधत रहेन।
15 तू नीक अउ ईमानदार रह्या जब मइँ तोहका बनाएउँ।
    किन्तु एकरे पाछे तू बुरे बन गया।
16 तोहार बइपार तोहरे लगे बहोत सम्पत्ति लिआवत रहा।
    किन्तु उ भी तोहरे भीतर त्रूरपन पइदा किहेस अउर तू पाप किहा।
एह बरे मइँ तोहरे संग अइसा बेउहार किहेउँ माना तू गन्दी चीज ह्वा।
    मइँ तोहका परमेस्सर क पर्वत स लोकाइ दिहेउँ।
तू खास करूब सरगदूतन मँ स एक रह्या,
    तोहार पखना फइला रहेन मोरे सिंहासने पइ
किन्तु मइँ तोहका आगी क तरह कौंधइवाले
    रतनन क तजइ क मजबूर किहेउँ।
17 तू आपन सुन्नरता क कारण घमण्डी होइ गया,
    तोहार गौरव तोहार बुद्धिमानी क नस्ट किहेउ,
एह बरे मइँ तोहका धरती पइ लिआइ लोकाएउँ,
    अउर अब दूसर राजा तोहका आँखिन फाड़िके लखत हीं।
18 तू अनेक गलत काम किहा,
तू बहोत कपटी बइपारी रह्या।
    इ तरह तू पवित्तर ठउरन क अपवित्तर किहा,
एह बरे मइँ तोहरे ही भीतर आगी लिआएउँ,
    इ तोहका जराइ दिहस,
तू भुइँया पइ राखी होइ गया।
    अब हर कउनो तोहार लज्जा लखि सकत ह।

19 “‘अन्य रास्ट्रन मँ सबहिं लोग,
    जउन तोह पइ घटित भवा, ओकरे बारे मँ दुःखी भए रहेन।
जउन तोहका भवा, उ लोगन क भयभीत करी।
    तू खतम होइ गवा अहा।’”

सीदोन क खिलाफ सँदेसा

20 यहोवा क बचन मोका मिला। उ कहेस, 21 “मनई क पूत, सीदोन पइ धियान द्या अउर मोरे बरे उ ठउरे क बिरूद्ध कछू कहा। 22 कहा, ‘मोर सुआमी यहोवा इ कहत ह:

“‘सीदोन, मइँ तोहारे खिलाफ हइँ!
    तोहरे लोग मोरे सम्मान करब सिखिहीं,
मइँ तोहार सीदोन क सजा देब,
    तब लोग समुझिहीं कि मइँ यहोवा हउँ।
तब उ पचे समुझिहीं कि
    मइँ पवित्तर हउँ।
23 मइँ सीदोन मँ रोग अउर मउत पठउब,
    ओकरे नगर मँ मउत उ समइ आइ
जब मइँ ओकरे खिलाफ चारिहुँ कइँती स तरवार लिआउब।
    तब उ पचे समुझिहीं कि मइँ यहोवा अहउँ।

रास्ट्र इस्राएल क मजाक उड़ाउब बन्द करिहीं

24 “‘पुराने जमाने मँ इस्राएल क चारिहुँ ओर क देस ओहसे घिना करत रहेन। किन्तु उ दूसर देसन क बरे बुरी घटनन घटिहीं। कउनो भी तेज काँटन या कँटेहरी झाड़ी इस्राएल क परिवार क घाएल करइवाली नाहीं रहि जाइ। तब उ पचे जानिहीं कि मइँ ओनकर सुआमी यहोवा हउँ।’”

25 मोर सुआमी यहोवा इ कहत ह, “मइँ इस्राएल क लोगन क अन्य रास्ट्रन मँ बिखेर दिहेउँ। किन्तु मइँ फुन इस्राएल क परिवार क एक संग बटोरब। तब उ सबइ रास्ट्र समुझिहीं कि मइँ पवित्तर हउँ। उ समइ इस्राएल क लोग आपन देस मँ रहिहीं अर्थात जउने देस क मइँ आपन सेवक याकूब क दिहेउँ। 26 उ पचे उ देस मँ सुरच्छित रहिहीं। उ पचे घर कइहीं अउर अंगूरे क बेलन लगइहीं। मइँ ओकरे चारिहुँ ओर क रास्ट्रन क दण्ड देब जउन ओहसे घिना किहन। तब इस्राएल क लोग सुरच्छित रहिहीं। तब उ पचे समुझिहीं कि मइँ ओनकर परमेस्सर यहोवा हउँ।”

Awadhi Bible: Easy-to-Read Version (ERV-AWA)

Awadhi Bible: Easy-to-Read Version Copyright © 2005 World Bible Translation Center

  Back

1 of 1

You'll get this book and many others when you join Bible Gateway Plus. Learn more

Viewing of
Cross references
Footnotes