A A A A A
Bible Book List

भजन संहिता 45Awadhi Bible: Easy-to-Read Version (ERV-AWA)

संगीत निदेर्सक बरे “सोसन्नीम” राग क अनुसार कोरह परिवार क मस्किल एक ठु पिरेम गीत।

45 सुन्नर सब्द मोरे मनवा मँ भरि जात हीं,
    जब मइँ राजा बरे बातन लिखत हउँ।
मोरी जिभिया पइ सब्द अइसे आवइ लागत हीं
    जइसे उ पचे कउनो कुसल लेखक क लेखनी स निकरत होइँ।

सबइ मनइयन मँ, तू अति सुन्नर अहइ।
    तोहार मुँहे स कृपालु सब्द निकलत अहा।
    एह बरे परमेस्सर तोहका सदा-सर्वदा आसीस देइ।
तू आपन तरवार क जोद्धन क कमर पइ बाँधा।
    तू महिमा वाला वस्त्र धारण करा।
तू अद्भुत देखाँत अहा।
जा, धरम अउ निआउ क जुद्ध जीत ल्या।
    अद्भुत करम क करइ बरे सक्ती स भरी दाहिनी भुजा क प्रयोग करा।
तोहार तीर तइयार अहइँ।
    तू बहुतेरन क हराइ देब्या।
    तू आपन दुस्मनन पइ हुकूमत करब्या।
हे परमेस्सर, [a] तोहार सिंहासन हमेसा रहब।
    तोहार साही राजदण्ड अच्छाई तोहार राज्ज क मज़बूत बनावत ह।
तू नेकी स पिआर अउ बुराई स घिना करत अहा।
    एह बरे सक्तीमान निआवाधीस,
    तोहार परमेस्सर तोहका तोहार साथियन क ऊपर राजा चुनेस ह।
तोहार ओढ़ना महकत अहइँ जइसे गंध रस, अगर अउ तेज पात स मधुर गंध आवति होइ।
    हाथी दाँत स जड़ा भवा राजमहलन स तोहका आनन्द मँ भरि देइ क मधुर संगीत क झंकार फइलति अहइँ।
राजा लोगन क बिटियन अइसा सेवा किहेन जइसा कि उ राजा क बिवाह मँ दुल्हन क सेविकन अहइँ।
    तोहार महरानी ओपीर क सोना स बना मुकुट पहिरे तोहरे दाहिन कइँती विराजति अहइँ।

10 हे राजपुत्री, मोरी बात क सुना।
    धियानदइके सुना, तबहिं तू मोरी बात क समझबू।
तू आपन निज लोगन अउर बाप क घराने क बिसरि जा।
11     राजा तोहरे सुन्दरता पइ मोहित अहइ।
इ तोहार नवा सुआमी होइ।
    तोहका एकर सम्मान करब अहइ।
12 सूर सहर क लोग तोहरे बरे उपहार [b] लइ अइहीं।
    अउर धनी मानी तोहसे मिलइ चइहीं।

13 उ राजकन्या उ मूल्यवान रत्न क नाई अहइ
    जेका सुन्नर मूल्यवान सुवर्ण मँ जड़ा गवा होइ।
14 ओका रमणीक वस्त्र पहिराइके लिआवा गवा बाटइ।
    ओकरी सखियन क भी जउन ओकरे पाछे अहइँ राजा क समन्वा लावा गवा।
15 उ पचे हिआँ उल्लास मँ आई अहइँ।
    उ पचे आनन्द मँ मगन होइके राजमहल मँ प्रवेस करिहीं।

16 राजा, तोहरे पाछे तोहार पूत सासक होइहीं।
    तू ओनका समूचे धरती क राजा बनउब्या।
17 मइँ तोहरे नाउँ क प्रचार जुग जुग तलक करब।
    तू प्रसिद्ध होब्या, तोहरे जसे क गीतन क लोग सदा सदा ही गावत रइहीं।

Footnotes:

  1. भजन संहिता 45:6 परमेस्सर हिआँ सम्भवत: राजा क ओर इसारा करत ह, जउन आपन लोगन क निआवाधीस क रूप मँ सेवा करत ह।
  2. भजन संहिता 45:12 तोहरे बरे उपहार “सूर क बिटिया, अमीर लोग तोहार लगे तोहसे मिलइ बरे उपहार लेइहीं।” साइद दुल्हन फोनिका क राजकाुमारी अहइ। उ होइ सकत ह इस्राएल क (उत्तरी बंसज) राजा अहाब स बियाह किहेस ह।
Awadhi Bible: Easy-to-Read Version (ERV-AWA)

Awadhi Bible: Easy-to-Read Version Copyright © 2005 World Bible Translation Center

  Back

1 of 1

You'll get this book and many others when you join Bible Gateway Plus. Learn more

Viewing of
Cross references
Footnotes