A A A A A
Bible Book List

भजन संहिता 103Awadhi Bible: Easy-to-Read Version (ERV-AWA)

दाऊद क एक ठु गीत।

103 हे मोर आतिमा, यहोवा क स्तुति करा।
    हे मोर अंग-प्रत्यंग ओकरे पवित्तर नाउँ क बड़कई करा।
हे मोर आतिमा, यहोवा क स्तुति करा
    अउर ओकरे सबइ कृपालु कामन क जिन बिसरा।
उ तोहार पापन क छमा करत ह।
    उ तोहार सबइ बेरामियन स तोहका चंगा करत ह।
उ तोहार प्राण क कब्र स बचावत ह,
    अउर उ तोहका पिरेम अउ करुणा स सज़वत ह।
परमेस्सर हमका भरपूर उत्तिम वस्तुअन देत ह।
    उ हमका फुन उकाब क नाई
    जवान करत ह।
यहोवा खरा कामन करत ह।
    परमेस्सर ओन लोगन क निआउ देत ह, जउने पइ दूसर लोग अत्याचार किहन ह।
उ मूसा क आपन मारग सिखाएस।
    उ इस्राएलियन क आपन कार्यन बताएस।
यहोवा करुणा स भरा अउर दयालु अहइ।
    परमेस्सर सहनसील अउ पिरेम स भरा अहइ।
यहोवा सदा ही आलोचना नाहीं करत।
    अउर ठीक इहइ तहर उ सदा हम पइ कोहान नाहीं रहत ह।
10 उ हम लोगन क संग हमार कीन्ह गवा पाप क अनुसार बेउहार नाहीं करत ह,
    अउर उ हमका वइसा सजा नाहीं देत जेका हम हकदार अहइँ।
11 आपन बिस्सासी पइ परमेस्सर क पिरेम वइसे महान अहइ
    जइसे धरती पइ अहइ ऊँचा उठा भवा अकास।
12 उ हमरे पापन क हम से ऍतना ही दूर हटाएस
    जेतना पूरब क दूरी पच्छिम स अहइ।
13 उ ओहे पइ जउन ओहसे डेरात ह वइसे ही दयालु अहइ,
    जइसे बाप आपन गदेलन पइ दाया करत ह।
14 परमेस्सर हमार सब कछू जानत ह।
    परमेस्सर जानत ह कि हम माटी स बना अही।
15 परमेस्सर जानत ह कि मानव जिन्नगी नान्ह स अहइ।
    उ जानत ह हमार जिन्नगी घास जइसी अहइ।
    परमेस्सर जानत ह कि हम लोगन क जिन्नगी बनफूल जइसा अल्प अहइ।
16 उ फूल जल्दी ही उगत ह।
    फिन गरम हवा चलत ह अउर उ फूल मुरझात ह।
    अउर फुन हाली ही तू लख नाहीं पउत्या कि उ फूल कइसे ठउर पइ उगत बाटइ।
17 मुला यहोवा क पिरेम सदा बना रहत ह।
    परमेस्सर सदा सदा ही आपन भगतन स पिरेम करत ह।
    परमेस्सर क दया ओकरे गदेलन स गदेलन तलक बनी रहत ह।
18 उ अइसन पइ दयालु अहइ, जउन ओकरी करार पइ चलत हीं।
    उ अइसन पइ दयालु अहइ जउन ओकरे आदेसन क पालन करत हीं।
19 परमेस्सर क सिंहासन सरगे मँ बना अहइ।
    हर चीज पइ ओकर हुकूमत अहइ।
20 हे सरगदूतो, यहोवा क स्तुति करा।
    हे सक्तीसाली सरगदूतन जउन ओकरे वचन क सुनत ह
    अउर ओकर पालन करत, ओकर गुण गवा।
21 हे सबइ ओकर दुस्मनो, यहोवा क स्तुति करा।
    तू जउन ओकर सेवा करत ह
    अउर उहइ करत ह जउन उ चाहत ह, ओकर गुण गवा।
22 हे समूचइ जगत, यहोवा क स्तुति करा
    जउन हर जगह पइ सासन करत ह।
हे मोर आतिमा, यहोवा क बड़कई करा

Awadhi Bible: Easy-to-Read Version (ERV-AWA)

Awadhi Bible: Easy-to-Read Version Copyright © 2005 World Bible Translation Center

  Back

1 of 1

You'll get this book and many others when you join Bible Gateway Plus. Learn more

Viewing of
Cross references
Footnotes