A A A A A
Bible Book List

निर्गमन 4Awadhi Bible: Easy-to-Read Version (ERV-AWA)

मूसा बरे प्रमाण

तब मूसा क जवाब दिहेस, “मुला इस्राएलियन मोहे पइ बिस्सास न करिहीं। उ पचे कइहीं, ‘यहोवा तोह पइ परगट नाहीं भवा।’”

मुला यहोवा मूसा स कहेस, “तू आपन हथवा मँ का धइके राखे बाट्या?”

मूसा जवाब दिहेस, “इ मोर टहरइ क लाठी अहइ।”

यहोवा कहेस, “आपन टहरइवाली लाठी जमीन प फेंकि द्या।”

तउ मूसा आपन टहरइ क लाठी क जमीन प फेंक दिहेस। अउ लाठी साँप बन गवा। मूसा डेरान अउ ऍसे परान। मुला यहोवा मूसा स कहेस, “अगवा बढ़ा अउ पूँछ धइके साँप क पकड़ि ल्या।”

ऍह बरे मूसा अगवा कइँती बढ़ा अउ साँप क पूँछ धइ लिहस। जइसेन मूसा अइसा किहेस, साँप फुनि लाठी होइ गवा। तब यहोवा कहेस “आपन छड़ी क इ तरह बइपरा अउ मनई बिस्सास करइँ, कि यहोवा ओकर पुरखन क परमेस्सर, इब्राहीम क परमेस्सर, इसहाक क परमेस्सर अउ याकूब क परमेस्सर तोहार समन्वा परगट भवा रहा।”

तब यहोवा मूसा स कहेस, “मइँ तोहका दूसर परमान देब। आपन हाथ क लबादा क नीचे धरा।”

तउ मूसा आपन हाथ क आपन लबादा क भीतर किहेस। तब मूसा आपन हाथ क लबादा स बाहेर निकारेस अउ उ बदरि गवा। ओकर हाथ बफर् क नाई उज्जर दागे स भरि गवा रहा।

तब यहोवा कहेस, “अब तू आपन हाथ लबादा क भीतर धरा।” ऍह बरे आपन हाथ फुन आपन लबादा क भितरे धइ द्या। तब मूसा आपन हाथ बाहेर निकारेस अउ टेँम भी ओकर हाथ बदरि गएन। अब ओकर हाथ पहिले क नाई होइ गवा रहा।

तब यहोवा कहेस, “जदि मनई तोहार बिस्सास छड़ी बइपरे प न करइँ तउ उ पचे तोह प बिस्सास तबहिं करिहिं जबहिं तू इ दूसर चीन्हा क देखउब्या। जदि तोहरे दुइनउँ चीन्हा देखाएँ क पाछे तोहार बिस्सास न करिहिँ तउ तू नील नदी स कछू पानी लइ लिहा। पानी क जमीन प गिराउब सुरू कइ दिहा अउ जइसे ही इ जमीन क छुई, रकत बनि जाई।”

10 मुला मूसा यहोवा स कहेस, “हे यहोवा, मइँ फुरे कहत हउँ, मइँ कुसल बोलवइया नाहीं हउँ। मइँ कबहूँ मनइयन स नीक तौर स बतियाइ काबिल नाहीं भएउँ। अउ आपसे बतियाए क पाछे भी नीक बोलवइया नाहीं हउँ। आप जानत हीं कि मइँ धीमे धीमे बोलत हउँ अउ उत्तिम सब्दन क बइपरत नाहीं हउँ।”

11 तब यहोवा ओसे कहेस, “कउन मनई क मुँहना क बनाएस? अउर कउन मनई क गूँगा या न बोलइ क लाइक बनइ सकत ह? कउन मनई क आँधर बनइ सकत ह? कउन मनई क लखइ क लाइक बनइ सकत ह? मइँ ही हउँ जउन इ सब कइ सकत हउँ, मइँ अहउँ यहोवा। 12 ऍह बरे अब जा। जबहिं तू बोलब्या, मइँ तोहरे साथे रहब। मइँ बोलइ बरे तोहका सब्दन देब।”

13 मुला मूसा कहेस, “मोर यहोवा। मइँ तोहसे बिनती करत हउँ कि दुसरे मनई क पठवा, मोका नाहीं।”

14 तब्बइ यहोवा मूसा प कोहान। यहोवा कहेस, “नीक अहइ। मइँ तोहका अउर कउनो क मदद बरे देब। मइँ तोहरे भइया हारून जउन लेवी परिवार स अहइ, क बइपरब। उ एक कुसल बोलवइया अहइ। हारून तोह स मिलइ बरे तोहरे लगे आवत आहइ। उ तोहका निहारिके खुस होइ। 15 उ तोहरे संग फिरौन क लगे जाइ। तोहका का कहइ का बा, मइँ बताउब। तब तू हारून क बतउब्या। जउन हारून फिरौन स बात करइ बरे नीक सब्दन बइपरी। 16 हारून तोहरे बरे मनइयन स बात करी। तू ओकरे बरे एक बड़का राजा क रूप मँ रहब्या अउर उ तोहरे कइँती स बोलवइया होइ। 17 अब जा। आपन छड़ी साथे लइ जा। आपन छड़ी क चमत्कार अउ दूसर चमत्कार मनइयन क समन्वा प्रदसिर्त कर्या।”

मूसा मिस्र लउटत ह

18 तब मूसा आपन ससुर यित्रो क लगे लौटि आवा। मूसा यित्रो स कहेस, “मेहरबानी कइ क मोका मिस्र जाइ द्या। मइँ मिस्र मँ आपन लोगन क लखइ चाहत हउँ कि मोर लोगन अबहुँ जिअत अहइँ।”

यित्रो मूसा स कहेस, “तू सान्ति स जा। इ ठीक अहइ।”

19 उ समइया जब मूसा मिदियन मँ ही रहा, यहोवा ओसे कहेस, “अब मिस्र वापिस जाइ क तोहारे बरे सुरच्छित टेम अहइ। जउन मनइयन तोहका मारइ चाहत रहेन, उ पचे मरि गएन।”

20 ऍह बरे मूसा आपन मेहरारू अउ आपन बेटवन क लइके गदहा प बइठाएस। अउ मिस्र क वापसी प लौटि गवा। मूसा उ टहरइवाली छड़ी क संग लिहेस जेहमाँ यहोवा क सक्ती रही।

21 जउन टेमॅ मूसा मिस्र क लउटत रहा, परमेस्सर ओसे कहेस। “जबहिं तू फिरौन स बतियाबा तउ उ सबहिं चमत्कारे क देखावा जेका देखावइ क सक्ती मइँ तोहका दिहेउँ ह। मुला मइँ फिरौन क बहोत जिद्दी बनाउब। उ लोगन क जाइ न देइ। 22 तब तू फिरौन स कहया: 23 ‘यहोवा कहत ह, इस्राएल मोर पहिलौटी क बेटवा अहइ। मोरे बेटवा क जाइ द्या अउर मोर आराधना करइ द्या। जदि तू इस्राएल क जाइ स मना करत बाट्या तउ मइँ तोहार पहिलौटी क पूत मारि डाउब।’”

मूसा क पूत क खतना

24 जउन टेम मूसा मिस्र क जात्रा प जात भवा रहा रात काटइ बरे सराय मँ रूका। यहोवा इ जगह प मूसा स भेटा अउ ओका मारि डावइ क जतन किहेस। 25 मुला जिप्पोरा चकमक पाथर क तेज छूरी लिहेस अउ आपन बेटवा क खतना किहेस। उ आपन बेटवा क बाहरी चाम लिहेस अउ ओकर गोड़वा छुएस। तब उ मूसा स कहेस, “तू मोरे लहू क भतार अहा।” 26 जिप्पोरा इ किहेस काहेकि ओका आपन बेटवा क खतना करइ पड़ा रहा। ऍह बरे यहोवा मूसा क माफ़ कइ दिहेस अउ ओका नाहीं मारेस। [a]

यहोवा क समन्वा मूसा अउ हारून

27 यहोवा हारून स कहेस। यहोवा ओनका बताएस, “रेगिस्तान मँ जा अउ मूसा स मिला।” तउ हारून गवा अउ यहोवा क पहाड़े प मूसा स मिला। जब हारून मूसा क लखेस, उ ओका चूमेस। 28 मूसा हारून क सब कछू बताएस जउन यहोवा कहे रहा। मूसा हारून क यहोवा क जरिए पठवइ क कारण बताएस। मूसा हारून क उ चमत्कारन अउ उ चीन्हा क समझाएस बुझाएस जेका परमान क वास्ते देखँवइ क रहा।

29 इ तरह मूसा अउ हारून गएन अउ उ पचे इस्राएल क मनइयन मँ स सबहिं बुजुर्गन क बटोरेन। 30 तबहिं हारून मनइयन स कहेस। उ मनइयन क सारी बातन क बताएस जउन यहोवा मूसा स कहेस। तबहिं मूसा सब मनइयन क देखइ बरे सब परमानन क सामने कइके देखाँएस। 31 ऍह बरे लोग मूसा पइ बिस्सासेन कि परमेस्सर ओका पठएस ह। इस्राएलियन समझेन कि यहोवा लोगन का मुसिबतन क लखइ क पाछे ओनके मदद बरे आवा रहेन अहइ। तउ उ पचे निहुरि गएन अउ आराधना किहेस।

Footnotes:

  1. निर्गमन 4:26 पद 26 या “उ चिकित्सा किहेस। उ कहेस, ‘इ खतना क वजह से तू पचे रकत क भतार अहा।”
Awadhi Bible: Easy-to-Read Version (ERV-AWA)

Awadhi Bible: Easy-to-Read Version Copyright © 2005 World Bible Translation Center

  Back

1 of 1

You'll get this book and many others when you join Bible Gateway Plus. Learn more

Viewing of
Cross references
Footnotes