A A A A A
Bible Book List

निआवाधीसन 5Awadhi Bible: Easy-to-Read Version (ERV-AWA)

दबोरा क गीत

जउने दिन इस्राएल क लोग सीसरा क हराएन उ दिन दबोर अउर अबीनोअम क पूत बाराक इ गीत क गाएस:

“इस्राएल क लोग अपने क रे तइयार किहन।
    उ पचे जुद्ध मँ भाग लेइ बरे खुद आएन।
यहोवा क बखान करा!

“राजा लोग, सुना।
    सासक लोगो, धियान द्या।
मइँ गाउब।
    मइँ खुद यहोवा क बरे गाउब।
मइँ यहोवा, इस्राएल क लोगन
    क परमेस्सर क स्तुति करब।

“हे यहोवा, अतीत मँ तू सेईर देस स आया।
    तू एदोम प्रदेस स चलकर आया,
अउर धरती काँप उठी।
    गगर बरसा किहेस,
    मेघन जल गिराएन।
पर्वत, यहोवा सिनाई पर्वत क परमेस्सर क समन्वा,
    यहोवा, इस्राएल क लोगन क परमेस्सर क समन्वा काँप उठेन।

“अनात क पूत समगर क समइ मँ
    अउर याएल क समइ मँ, राजमार्गन सूना रहेन।
    काफिले अउ राही, गौण पथन स चलत रहेन।

“इस्राएल मँ कउनो जोधा नाहीं रहा,
    हे दबोरा, जब तलक तू नाहीं आएस रहा,
    जब तलक तू इस्राएल क महतारी बनिके न खड़ी भइउ रहा हुआँ कउनो फउजी नाहीं रहा।

“परमेस्सर नवे प्रमुखन क चुनेस कि
    उ पचे नगर-द्वार पइ जुद्ध करइँ।
इस्राएल क चालीस हजार फउजियन मँ,
    कउनो ढाल अउ भाला नाहीं पाइ सका।

“मोर हिरदय इस्राएल क सेनापतियन क संग अहइ।
    इ सबइ सेनापति खुद आपन इच्छा स जुद्ध मँ गएन।
यहोवा प्रसंसा करा।

10 “सफेद गदहन पइ सवार होइवाले लोगो तू पचे,
    जउन कम्बले क काठी पइ बइठत अहा
    अउर तु जउन राजपथे पइ अहा, धियान द्या।
11 घुंघरुअन क छमछम संगीत, गोरुअन बरे
    पानी वाले कुअँन पइ, सुना जा सकत ह।
लोग यहोवा क विजय गीत गावत ह।
    उ पचे इस्राएल मँ यहोवा अउ ओकर वीरन क विजय-कथा कहत हीं।
उ जब समइ यहोवा क लोग
    नगर दुआरन पइ लड़ेन अउर विजयी भएन।

12 “दबोरा जागा, जागा!
    जागा, जागा गीत गावा जागा,
बाराक! जा, हे अबीनोअम के पूत
    आपन दुस्मनन क धरा!

13 “तउ कछू मनइयन ताकतवर मनइयन स लड़इ बरे गएन।
    यहोवा क लोगो, सक्तीसाली सिपाहियन क खिलाफ मोरे संग आवा।

14 “एप्रैम क कछू लोग अमालेक क पहाड़ी प्रदेस स आएन।
    हे बिन्यामीन, तू अउर तोहार लोग ओन मनइयन क अनुसरण किहन।
माकीर क परिवार समूह स सेनापतियन आगे आएन।
    कॉसे क दण्ड क संग जबूलून परिवार समूह स नेता लोग आएन।
15 इस्साकार क नेता दबोरा क संग रहेन।
    इस्साकार क परिवार समूह बाराक क बरे सच्चा रहा।
    उ सबइ मनई पैदल ही घाटी मँ पठवा गएन।

“रूबेन तोहार फउज मँ बहोत सारे बहादुर सिपाही अहइ।
16     एह बरे आपन भेड़वाले देवार स लगे तू सबहिं काहे बइठा अहा?
रूबेन क वीर फउजियन जुद्ध बरे बहोत जियादा सोचेन।
    किन्तु उ पचे घर बइठेन भेड़िन बरे बजाइ जा रहेन संगीत क अनकत रहेन।
17 गिलाद क लोग यरदन नदी क पार आपन डेरन मँ पड़ा रहेन।
    ऐ, दान क लोगो, जहाँ तलक बात तोहार पचन्क अहइ तू पचे जहाजन क संग काहे चिपका रह्या?
आसेर क लोग सागर तट पइ पड़ा रहेन।
    उ पचे आपन सुरच्छित बन्दरगाहन मँ डेरा डाएन।

18 “किन्तु जबूलून क लोग अउर नप्ताली क लोग,
    मैदान क ऊच छेत्रन मँ जुद्ध क खतरे मँ जीवन क डाएन।
19 राजा लोग आएन, उ पचे लड़ेन,
    उ समइ कनान क राजा लोगन,
तानक सहर मँ मगिद्दो क जलासय पइ लड़ा
    किन्तु उ पचे इस्राएल क लोगन क कउनो सम्पति नाहीं लइ जाइ सकेन।
20 गगन क नछत्रन जुद्ध किहेन।
    नछत्रन आपन पथ स, सीसरा स जुद्ध किहन।
21 कीसोन नदी, सीसरा क फउजियन क बहाइ लइ गइ,
    उ पुरानी नदी-कीसोन नदी।
मोर आतिमा, सक्ती स आगे बढ़ा!
22 उ समइ घोड़न क खरन भुइँया क पीटेन।
    सीसरा क सक्तीसाली घोड़न भागत गएन, भागत गएन।

23 “यहोवा क दूत कहेस, ‘मेरोज नगर क अभिसाप द्या।
    लोगन क अभिसाप द्या।
लोग्गन क अभिसाप द्या जोधन क संग उ पचे
    यहोवा क मदद करइ नाहीं आएन।’
24 केनी हेबेर क मेहरारू याएल सबहिं
    मेहररूअन मँ स सब स जियादा धन्य होइ।
25 सीसरा जल माँगेस,
    किन्तु याएल दूध दिहस,
उ सासक क बरे एक ठु उपयुक्त पिआला मँ
    मलाई लिआएस।
26 याएल बाहेर गइ अउर तम्बू क खूँटी लिआएस।
    ओकर दाहिने हाथे मँ हथौ़डा रहा जेका मजदूर काम लिअवतेन।
अउर उ सीसरा पइ हथौरा चलाएस।
उ ओकरे मूँड चूर किहेस।
    उ ओकरे मूँड क एक कइँती स बेधेस।
27 उ याएल क गोड़न क बीच बूड़ा ।
    उ मर गवा।
    उहुवँइ पड़ गवा।
उ ओकरे गो़डन क बीच बू़डा।
उ मर गवा जहाँ सीसरा बूड़ा।
    हुवँइ उ गिरा, मर गवा।

28 “सीसरा क महतारी, खिड़की स लखत
    अउर पर्दन स झाँकत भइ चिचियाइ उठी।
‘सरा क रथ क आवई मँ देरी काहे भवा?
    सीसरा क रथ क घोड़न क हिनहिनाइ मँ देरी काहे भवा?’

29 “सब स चतुर ओकर सेविकन जवाब ओका देतिन,
    हाँ सेविका ओका जवाब देत।
30 ‘निहचइ ही उ पचे विजय पाएन ह,
    निहचय ही पराजितन क चिजियन उ पचे हड़पत अहइँ
निहचय ही उ पचे आपुस मँ चिजियन क बाँटत हीं।
    एक ठु या दुइ लड़की, हर फउजी क दीन्ह जात हीं।
संभव अहइ सीसरा कउनो रंगा ओढ़ना लेत अहइ,
    संभव अहइ इ एक कढ़े ओढ़ना क टूका होइ,
    या संभव अहइ, विजय सीसरा क पहिरइ बरे दुइ हुका होइ।’

31 “हे यहोवा, इ तरह तोहार, दुस्मन मर-मिट जाइँ।
    किन्तु उ सबइ लोग जउन तोहका पियार करत हीं उदय होत भवा चमकीला क समान सक्तीसाली बनइ।”

तउ देस मँ चालीस बरिस तक सान्ति रही।

Awadhi Bible: Easy-to-Read Version (ERV-AWA)

Awadhi Bible: Easy-to-Read Version Copyright © 2005 World Bible Translation Center

  Back

1 of 1

You'll get this book and many others when you join Bible Gateway Plus. Learn more

Viewing of
Cross references
Footnotes