A A A A A
Bible Book List

दूसर इतिहास 33Awadhi Bible: Easy-to-Read Version (ERV-AWA)

यहूदा क राजा मनस्से

33 मनस्से जब यहूदा क नवा राजा भवा उ बारह बरिस क राहा। उ यरूसलेम मँ पचपन बरिस तलक राजा रहा। मनस्से उ सबइ सब कार्य किहस जेनका यहोवा गलत कहे रहा। उ दूसर रास्ट्रन क भयंकर अउर पापपूर्ण रीतियन क अनुसरण किहस। यहोवा ओन रास्ट्रन क बाहेर निकर जाइ क बरे मजबूर किहे रहा जब उ इस्राएल क लोगन क उ भुइँया पइ लिआए रहा। मनस्से फुन ओन ऊँच जगहन क बनाएस जेनका ओकर बाप हिजकिय्याह तोर गिराये रहा। मनस्से बाल देवतन बरे वेदियन बनाएस अउ असेरा खम्भन खड़े किहस। उ नछत्र-समूह क प्रणाम करत रहा अउ ओनका पूजत रहा। मनस्से यहोवा क मन्दिर मँ लबार देवतन क बरे वेदियन बनाएस। यहोवा मन्दिर क बारे मँ कहे रहा, “मोर नाउँ यरूसलेम मँ सदा ही रही।” मनस्से सबहिं नछत्र-समूहन क बरे यहोवा क मन्दिर क दुइनउँ अंगनन मँ वेदियन बनाएस। मनस्से अपने बेटवन क भी बलि बरे हिन्नोम क घाटी मँ बारेस। मनस्से सान्तिपाठ, दैवीकरण अउ भविस्स कथन क रूप मँ जादू-टोना क उपयोग किहस। उ ओझन अउ भूतसिद्धि करइवालन क संग बातन किहस अउर उ यहोवा क दृस्टि मँ बहोत पाप किहस। मनस्से क पापन यहोवा क किरोधित किहन। उ एक ठु देवता क मूरति बनाएस अउर ओका परमेस्सर क मन्दिर मँ धरेस। परमेस्सर दाऊद अउ ओकर पूत सुलैमान स मन्दिर क बारे मँ कहे रहा, “मइँ इ मन्दिर मँ अउर यरूसलेम मँ आपन नाउँ क स्थापित करब जेका मइँ इस्राएल क सबहिं परिवार समूहन क नगरन क बीच स चुनेउँ ह, अउर हुवाँ मोर नाउँ हमेसा रहब। मइँ फुन इस्राएलियन क उ भुइँया स बाहेर नाहीं करब जेका मइँ ओनके पुरखन क देइ क बरे चुनेउँ। किन्तु ओनका ओन नेमन क बिधियन अउर आदेसन क पालन जरूर करइ चाही जेनका मइँ मूसा क ओनका देइ क हुकुम दिहेउँ।”

मनस्से यहूदा क लोगन अउर यरूसलेम मँ रहइवाले लोगन क पाप करइ बरे उ उत्साहित किहेउँ। उ ओन रास्ट्रन स भी जियादा पाप किहस जेनका यहोवा नस्ट किहे रहा अउर जउन इस्राएलियन स पहिले उ पहँटा मँ रहेन।

10 यहोवा मनस्से अउर ओकरे लोगन स बातचीत किहस। किन्तु उ पचे सुनइ स इन्कार कइ दिहन। 11 एह बरे यहोवा यहूदा पइ हमला करइ क बरे अस्सूर क राजा क सेनापतियन क हुवाँ पहोंचाएस। एन सेनापतियन मनस्से क धइ लिहन अउर ओका बन्दी बनाइ लिहन। उ पचे ओका बेड़ियन पहिराइ दिहन अउर ओकरे हाथन मँ पीतर क जंजीरन डाएन। उ पचे मनस्से क बन्दी बनाएन अउर ओका बाबुल देस लइ गएन।

12 मनस्से क कस्ट भवा। उ समइ उ यहोवा अपने परमेस्सर स याचना किहस। मनस्से खुद क अपने पुरखन क परमेस्सर क समन्वा बहोत विनम्र किहेस। 13 मनस्से परमेस्सर स पराथना किहस अउर परमेस्सर स मदद माँगेस। यहोवा मनस्से क याचना सुनेस अउ ओका ओह पइ दया आइ। यहोवा ओका यरूसलेम अपने सिंहासन पइ लउटइ क आदेस दिहस। तब मनस्से समुझेस कि यहोवा फुरइ परमेस्सर अहइ।

14 इ घटइ क पाछे, मनस्से दाऊद नगर क बरे बाहरी देवार बनाएस। इ गिहोन क पस्चिमी सोते तलक मछरी-फाटक क प्रवेस दुआर अउर ओपेल पहाड़ी क चारिहुँ कइँती तलक गएन। उ देवार क बहोत ऊँच बनाएस। तब उ अधिकारियन क यहूदा क सबहिं किलन मँ रखेस। 15 मनस्से यहोवा क मन्दिर स दूसर रास्ट्रन क देवतन अउ मूरतियन क हटाइ दिहेस। उ ओन सबहिं वेदियन क लोकाएस जेनका उ मन्दिर क पहाड़ी पइ अउ यरूसलेम मँ बनाएस। मनस्से ओन सबहिं वेदियन क यरूसलेम नगर स बाहेर लोकाएस। 16 तब उ यहोवा क वेदी पुन: एकत्र किहस अउ मेलबलि अउ धन्यवाद भेंट एह पइ चढ़ाएस। मनस्से यहूदा क सबहिं लोगन क इस्राएल क यहोवा परमेस्सर क सेवा करइ क आदेस दिहस। 17 लोग ऊँच जगहियन पइ बलि देब जारी रखेस, मुला ओनकर भेटन केवल यहोवा ओनके परमेस्सर बरे रहिन।

18 मनस्से जउन कछू दूसर किहस अउर ओकर परमेस्सर स पराथनन अउ ओन द्रस्टा लोगन क कथन जउन इस्राएल क यहोवा परमेस्सर क नाउँ पइ ओहसे बातन किहे रहा, उ सबइ सबहिं इस्राएल क राजा नाउँ क किताबे मँ लिखी अहइँ। 19 मनस्से कइसे पराथना किहस अउर परमेस्सर कइसे सुनेस अउर ओह पइ दाया किहस, इ द्रस्टा लोगन क पुस्तक मँ लिखा अहइ। मनस्से क सबहिं पाप अउ बुराइयन जउन उ खुद क बिनम्र करइ स पहिले किहस अउर उ सबइ जगह जहाँ उ ऊँच जगह बनाएस अउर असेरा-खम्भा खड़ा किहेस भी दसीर् लोगन क पुस्तक मँ दर्ज अहइँ। 20 मनस्से मरि गवा, अउर उ जगह पइ दफनावा गवा जहाँ पइ ओकर पूरखन क दफनावा गवा रहा। लोग मनस्से क ओकर महल मँ दफनाएन। मनस्से क जगह पइ ओकर पूत आमोन नवा राजा भवा।

यहूदा क राजा आमोन

21 आमोन जब यहूदा क राजा भवा, बाईस बरिस क रहा। उ दुइ बरिस तलक यरूसलेम मँ हुवूमत किहेस। 22 ओमोन ठीक वइसा ही किहेस जइसा ओकर बाप किहे रहा, उ उ काम किहेस जेका यहोवा बुरा समुझत ह। आमोन सबहिं खुदी मूरतियन अउ अपने बाप मनस्से क बनाई मूरतियन क बलि चढ़ाएस। आमोन ओन मूरतियन क लगे निहुरेस अउर ओनकर पूजा किहस। 23 आमोन खुद क अपने बाप मनस्से क तरह यहोवा क समन्वा विनम्र नाहीं बनाएस। आमोन जियादा स जियादा पाप करत गवा। 24 आमोन क सेवकन ओकरे बिरुद्ध जोजना बनाएन उ पचे आमोन क ओकरे घरे मँ मार डाएन। 25 मुला यहूदा क लोग ओन सबहिं सेवकन क मार डाएन जउन राजा आमोन क बिरुद्ध जोजना बनाए रहेन। तब लोग योसिय्याह क नवा राजा चुनेन। योसिय्याह आमोन क पूत रहा।

Awadhi Bible: Easy-to-Read Version (ERV-AWA)

Awadhi Bible: Easy-to-Read Version Copyright © 2005 World Bible Translation Center

  Back

1 of 1

You'll get this book and many others when you join Bible Gateway Plus. Learn more

Viewing of
Cross references
Footnotes