A A A A A
Bible Book List

दानिय्येल 6Awadhi Bible: Easy-to-Read Version (ERV-AWA)

दानिय्येल अउ सिंह

दारा राज्ज पइ हुवुमत करइ बरे ओकर मदद बरे एक सौ बीस प्रान्तीय अधिकारियन क नियुक्त करइ क निहचय किहा। अउर एकरे बरे उ एक सौ बीस प्रान्त-अधिपतियन क ऊपर हुवूमत करइ बरे तीन ठु मनइयन क अधिकारी नियुक्त कइ दिहस। इ तीनहुँ देख-रेख करइवालन मँ एक रहा दानिय्येल। एन तीन मनइयन क नियुक्ति राजा एह बरे किहे रहा कि कउनो ओकरे संग छल न कइ पावइ अउर ओकर राज्ज क कउनो भी हानि न होइ। दानिय्येल इ कइ देखाएस कि उ दूसर पर्यवेच्छकन स जियादा उत्तिम अहइ। दानिय्येल इ काम आपन उत्तम मानिसक जागतन अउर महान अन्तदृस्टि क कारण सम्पनन कइ सकेस। राजा दानिय्येल स एतना जियादा प्रभावित भवा कि उ दानिय्येल क सारी हुवूमत क हाकिम बनावइ क सोचेस। किन्तु जब दूसर पर्यवेच्छकन अउ प्रान्त अधिपतियन एकरे बारे मँ सुनेन तउ ओनका दानिय्येल स जलन होइ लाग। उ पचे ओका कोसइ क बरे कारण ढूँढइ क जतन करइ लागेन। किन्तु फुन भी उ पचे ओकरे काम मँ कउनो दोख या कउनो भ्रस्ट नाहीं ढूँढ पाएन। तउ उ पचे ओह पइ कउनो गलत काम करइ क दोख नाहीं लगाइ सकेन। काहेकि दानिय्येल बहोत ईमानदार अउ भरोसेमन्द मनई रहा। उ पचे ओहमाँ कउनो दोख नाहीं ढूँढ पाएन।

आखिरकार ओन लोग कहेन, “दानिय्येल पइ कउनो बुरा काम करइ क दोख लगावइ क वजह हम कबहुँ नाहीं ढूंढ़ पाउब। एह बरे हमका सिकाइत क बरे कउनो अइसी बात ढूँढ़इ चाही जउन ओकर परमेस्सर क नेमन स सम्बन्ध रखत होइ।”

तउ उ पचे दुइनउँ पर्यवेच्छक अउर उ सबइ प्रान्त-अधिपति टोली बनाइके राजा क लगे गएन। उ पचे कहेन, “हे राजा दारा, तू अमर रहा। हम सबहिं पर्यवेच्छक, हाकिम, प्रान्त-अधिपति, मंत्री अउर राज्जपाल एक बात पइ सहमत अहइ कि राजा क इ नेम बनाइ देइ चाही अउर हर मनई क इ नेम क पालन करइ चाही। उ नेम इ अहइँ, जदि अगले तीस दिनन तलक कउनो भी मनई, आपक तजिके कउनो अउर देवता या मनई क पराथना करइ तउ उ मनई क सेरन क माँद मँ डाइ दीन्ह जाइ। अब हे राजा! जउने कागज पइ नेम लिखा अहइ, तू ओह पइ हस्ताच्छर कइ द्या। इ तरह स इ नेम कबहुँ बदला नाहीं जाइ सकी। काहेकि मीदियन अउ फारसियन क नेम न तउ बदले जाइ सकत हीं।” तउ राजा दारा इ नेम बनाइके ओह पइ हस्ताच्छर कइ दिहेस।

10 हर दिन तीन दाईं दानिय्येल अपने घुटनन क बल निहुरिके आपन परमेस्सर क पराथना करत रहेन अउर आपन परमेस्सर क सुकरिया अदा किहेन। दानिय्येल जब इ नवे नेम क बारे मँ सुनेस तउ उ अपने घर चला गवा। दानिय्येल आपन मकान क छत क ऊपर, आपन कमरा मँ चला गवा। दानिय्येल ओन खिड़कियन क लगे गवा जउन यरूसलेम क तरफ खुलत रहिन। फिन उ आपन घुटनन क बल निहुरा अउर जइसे सदा किया करत रहा, उ वइसे ही पराथना किहेस।

11 फिन उ सबइ लोग झुण्ड बनाइके दानिय्येल क हिआँ जाइ पहुँचेन। हुवाँ उ पचे दानिय्येल क पराथना करत अउ परमेस्सर स दाया माँगत पाएन। 12 बस फुन का रहा। उ सबइ लोग राजा क लगे पहुँचेन अउर उ पचे राजा स उ नेम क बारे मँ बात किहन जउन उ बनाए रहा। उ पचे कहेन, “हे राजा दारा, आप एक नेम बनाए रहेन। जेकरे अनुसार अगले तीस दिनन तलक जदि कउनो मनई कउनो देवता स या तोहरे अलावा कउनो मनई स पराथना करत ह तउ, हे राजा, ओका सेरन क माँद मँ फेंकवाइ दीन्ह जाइ। बतावइँ का आप इ नेम पइ हस्ताच्छर नाहीं किहे रहेन?”

राजा जवाब दिहस, “हाँ, मइँ उ नेम पइ हस्ताच्छर किहे रहेउँ अउर मादियन अउ फारसियन क नेम अटल होत हीं। न तउ उ सबइ बदले जाइ सकत हीं, अउर न ही मिटावा, जाइ सकत हीं।”

13 एह पइ ओन राजा स कहेन, “दानिय्येल नाउँ क उ मनई आप क बात पइ धियान नाहीं देत अहइ। दानिय्येल यहूदा क बन्दियन मँ स एक अहइ। जउने नेम पइ आप हस्ताच्छर किहेन ह, उ ओह पइ धियान नाहीं देत अहइ। दानिय्येल अबहुँ भी हर दिन तीन दाईं अपने परमेस्सर क पराथना करत ह।”

14 राजा जब इ सुनेस तउ उ बहोत दुःखी अउ बियावुल होइ उठा। राजा दानिय्येल क बचावइ चाहत रहा। एह बरे ओका बचावइ क कउनो उपाय सोचत सोचत राजा सारा दिन बिताइ दिहेस अउर साम होइ गइ। 15 एकरे बाद उ सबइ लोग एक झुण्ड बनाइके राजा क लगे पहोंचने। उ पचे राजा स कहेन, “हे राजा, मादियन अउ फारसियन क ब्यवस्था क अनुसार या हुवूम पइ राजा हस्ताच्छर कइ देइ, उ न तउ कबहुँ बदला जाइ सकत ह अउर न ही कबहुँ मिटावा जाइ सकत ह।”

16 तउ राजा दारा आदेस दइ दिहेस। उ सबइ लोग दानिय्येल क धइ लाएन अउर ओका सेरन क माँद मँ लोकाइ दिहेन। राजा दिनिय्येल स कहेस, “मोका आसा अहइ कि तू जउन परमेस्सर क हमेसा उपासना करत ह, उ तोहार रच्छा करी।” 17 एक बड़ा सा पाथर लिआवा गवा अउर ओका सेरन क माँद क दुआर पइ भेड़ दीन्ह गवा। फुन राजा आपन अँगूठी लिहेस अउर उ पाथर पइ आपन मुहर लगाइ दिहस। साथ ही उ आपन हाकिमन क अंगूठियन क मुहरन भी उ पाथर पइ लगाइ दिहस। एकर इ अभिप्राय रहा कि उ पाथर क कउनो भी हटाइ नाहीं सकत अउर सेरन क उ माँद स दानिय्येल क बाहेर नाहीं लाइ सकत रहा। 18 एकरे पाछे राजा दारा आपन महल क वापस चला गवा। उ पूरी रात उपवास किहेस। उ नाहीं चाहत रहा कि कउनो ओकरे लगे आवइ अउर ओकर मन बहलावइ। राजा सारी रात सोइ नाहीं पाएस।

19 दूसरे दिन भिन्सारे जइसे ही सूरज रोसनी फइलइ लाग, राजा दारा जाग गवा अउ सेरन क माँद कइँती दउड़ा। 20 राजा बहोत चिंतित रहा। राजा जब सेरन क माँद क लगे गवा तउ हुवाँ उ दानिय्येल क जोर स अवाज लगाएस। राजा कहेस, “हे दानिय्येल, हे जिअत परमेस्सर क सेवक, का तोहार परमेस्सर, जेकर तू हमेसा उपासना करत ह, तोहका सेरन स बचावइ मँ सामर्थ भवा ह”

21 दानिय्येल जवाब दिहेस, “राजा, अमर रहइँ। 22 मोर परमेस्सर मोका बचावइ बरे सरगदूत पठए रहा। उ सरगदूत सेरन क मुँह बन्द कइ दिहेस। सेरन मोका कउनो हानि नाहीं पहोंचाएन काहेकि मोर परमेस्सर जानत ह कि मइँ निरपराध हउँ। मइँ राजा क बरे कबहुँ कउनो बुरा नाहीं किहेउँ ह।”

23 राजा दारा बहोत खुस रहा। राजा आपन सेवकन क हुवूम दिहेस कि उ पचे दानिय्येल क सेरन क माँद स बाहेर हींच लेइँ। जब दानिय्येल क सेरन क माँद स बाहेर लिआवा गवा तउ ओका ओह पइ कउनो जखम नाहीं देखाइ दिहस। सेरन दानिय्येल क कउनो भी तरह क हानि नाहीं पहोंचाए रहा। काहेकि उ आपन परमेस्सर पइ बिस्सास किहेस।

24 एकरे पाछे राजा ओन लोगन क जउन दानिय्येल पइ अभियोग लगाइके ओका सेरन क माँद मँ डलवाए रहेन, बोलवावइ क आदेस दिहस अउर ओन लोगन क, ओनकर मेहररूअन क अउर ओनके गदेलन क सेरन क माँद मँ फेंकवाइ दिहे रहा। एहसे पहिले कि उ पचे सेरन क माँद मँ धरती पइ गिरतेन, सेरन ओनका दबोच लिहन। सेर ओनके तनन क खाइ गएन अउर फुन ओनकर हाड़न क चूर-चूर कइ दिहेन।

25 एह पइ राजा दारा सारी धरती क लोगन, दूसर जाति क अलग-अलग भासा बोलइवालन क इ पत्र लिखेस:

“सुभकामनाऐं

26 मइँ एक ठु नेम बनावत हउँ। मोरे राज्ज क हर भाग क लोगन क बरे इ नेम होइ। तू पचे सबहिं लोगन क दानिय्येल क परमेस्सर क भय मानइ चाही अउर ओकर आदर करइ चाहीं।

दानिय्येल क परमेस्सर जिअत अहइ।
    परमेस्सर सदा-सदा अमर रहत ह।
साम्राज्ज कबहुँ ओकर खतम नाहीं होइ
    ओकरे सासन क अंत कबहुँ नाहीं होइ
27 परमेस्सर लोगन क बचावत ह अउर रच्छा करत ह।
    सरग मँ अउ धरती क ऊपर परमेस्सर अद्भूत अचरजे स भरा करम करत ह।
परमेस्सर दानिय्येल क सेरन स बचाइ लिहेस।”

28 इ तरह जब दारा क राज रहा अउर जिन दिनन फारसी राजा वुसू क हुवूमत रही, दानिय्येल सफलता प्राप्त किहस।

Awadhi Bible: Easy-to-Read Version (ERV-AWA)

Awadhi Bible: Easy-to-Read Version Copyright © 2005 World Bible Translation Center

  Back

1 of 1

You'll get this book and many others when you join Bible Gateway Plus. Learn more

Viewing of
Cross references
Footnotes