A A A A A
Bible Book List

उत्पत्ति 12Awadhi Bible: Easy-to-Read Version (ERV-AWA)

परमेस्सर अब्राम क बोलावत ह

12 यहोवा अब्राम स कहेस, “आपन देस अउ आपन लोगन क तजि द्या। आपन बाप क परिवारे क तजि द्या अउर उस देस जा जेका मइँ तोहका देखाउब।

मइँ तोहका आसीर्बाद देब।
    मइँ तू पचन स एक महान रास्ट्र बनाउब।
    मइँ तू सबन क नाउँ मसहूर करब।
लोग तोहरे नाउँ क प्रयोग
    दूसर लोगन क आसीर्बाद देइ बरे करइही।
मइँ उ पचन क असीसब, जउन तोहका असीसिही।
    मुला मइँ ओनका सराप देब जउन तोहका सराप दिहेस।
मइँ धरती प सब मनइयन क असीसइ क बरे
    तोहका बइपरब।”

अब्राम कनान जात ह

तउ अब्राम यहोवा क हुकुम मानेस। उ हारान क तजि दिहस अउ लूत ओकरे संग गवा। इ समइ अब्राम पचहत्तर बरिस क रहा। अब्राम जब हारान तजेस तउ उ अकेल्ला नाही रहा। अब्राम आपन मेहरारु सारै, भतीजा लूत अउ हारान मँ ओनकइ संग जउन कछू रहा, सबक संग लइ आवा। अब्राम क जउन सब दास लोग मिला रहेन, उ सबइ भी ओकरे संग गएन। अब्राम अउ ओकर दल छारान क तजि दिहेस अउ कनान देस तलक जात्रा किहेस। अब्राम कनान देस मँ सकेम क सहर अउ मोरे क बड़का बृच्छ तलक जात्रा किहस। उ समइ कनानी लोग हुआँ रहत रहेन।

यहोवा अब्राम क समन्वा परगट भवा। यहोवा कहेस, “मइँ इ देस तोहरे संतानन क देब।”

यहोवा अब्राम क समन्वा जउने जगह प परगट भवा उ जगह प अब्राम एक वेदी यहोवा क आराधना बरे बनाएस। तब अब्राम उ जगह क तजि दिहेस अउ बेतेल क पूरब पहाड़े प जात्रा किहस। अब्राम हुवाँ आपन तम्बू गाड़ेस। बेतेल सहर पच्छिम मँ रहा। आइ सहर पूरब मँ रहा। उ जगह अब्राम यहोवा बरे दूसर वेदी बनाएस अउ अब्राम हुवाँ यहोवा क उपासना किहेस। एकरे पाछे अब्राम फुन जात्रा किहस। उ नेगव कइँती जात्रा किहस।

मिस्र मँ अब्राम

10 इ दिनन भुइँया बहोतइ झुरान रही अउ कउनो खाइ क चीज नाही जमत रही। ऍह बरे अब्राम जिअत रहइ बरे मिस्र चला गवा। 11 अब्राम लखेस कि ओकर मेहरारु सारै बहोत सुन्नर रही। ऍह बरे मिस्र मँ आवइ क पहिले अब्राम सारै स कहेस, “मइँ जानत हउँ कि तू बहोतइ सुन्नर अहा। 12 जब मिस्र क लोग तोहका निहरिहीं तउ उ पचे कहिहीं, ‘इ मेहरारु एकर पत्नी अहइ।’ तब उ सबइ मोका मारि डइही काहेकि तोहका बइठाइ लेइही. 13 इ खातिर तू मनइयन स कह्?या कि तू मोर बहिन अहा। तब उ पचे मोका नाही मरिहीं। उ पचे मोहे प दया करिहीं काहेकि उ पचे बूझि लेइही कि मइँ तोहार भाई अहउँ। इ तरह तू मोर जिन्नगी बचउबिउ।”

14 इ तरह अब्राम मिस्र मँ पहोंचा। मिस्र क लोग लखेन, सारै बहोत सुन्नर मेहरारु अहइ। 15 कछू मिस्र क अफसर लोग ओका लखेन। उ पचे फिरौन स कहेन कि उ बहोतइ सुन्नर मेहरारु अहइ। उ सबइ अफसर सारै क फिरौन क घर लइ गएन। 16 फिरौन अब्राम क ऊपर दया किहेस काहेकि उ पचे बूझ गएन कि उ सारै क भइया बाटइ। फ़िरौन अब्राम क भेड़ी, गोरु अउ गदहन क दिहस। अब्राम ऊँटन क संग मनसेधु अउ मेहरारु नउकरन पाएस।

17 फिरौन अब्राम क मेहरारु क रखि लिहस। एहसे यहोवा फिरौन अउ ओकरे घरे क मनइयन मँ खराब बेरामी सँचराइ दिहस। 18 तउ फिरौन अब्राम क बोलाएस। फिरौन कहेस, “तू मोरे संग बड़ा खोट किहा ह। तू इ नाहीं बताया कि सारै तोहार पत्नी अहइ। काहे 19 तू कहा, ‘इ मोर बहिन अहइ’ तू अइसा काहे कहया? मइँ ऍका ऍह बरे राखा कि इ मोर मेहरारु होइ। मुला अब मइँ तोहार मेहरारु क तोहका लउटावत अहउँ। ऍका ल्या अउ जा।” 20 तब किरौन आपन मनइयन क हुकुम दिहस कि उ पचे अब्राम क मिस्र क बाहेर पहोंचाइ देंइ। इ तरह अब्राम अउ ओकर मेहरारु उ जगह तजेन अउर उ पचे सब चिजियन क संग लइ गएन जउन ओनकइ रही।

Awadhi Bible: Easy-to-Read Version (ERV-AWA)

Awadhi Bible: Easy-to-Read Version Copyright © 2005 World Bible Translation Center

  Back

1 of 1

You'll get this book and many others when you join Bible Gateway Plus. Learn more

Viewing of
Cross references
Footnotes