A A A A A
Bible Book List

1 समूएल 30Awadhi Bible: Easy-to-Read Version (ERV-AWA)

अमालेकी सिकलग पइ हमला करत हीं

30 तिसरे दिना दाऊद अउ ओकर मनई सिकलग पहँचि आएन। उ पचे लखेन कि अमालेकी सिकलग प हमला करत बाटइ। अमालेकी नेगव पहँटा प हमला किहे रहेन। उ पचे सिकलग प हमला किहन अउ सहर क बारि दिहन। उ पचे सिकलग क मेहररुअन क बन्दी बनाइके लइ गएन। उ सबइ जवान अउ बूढ़न सबहिं क लइ गएन। उ पचे कउनो मनइयन क मारेन नाहीं। उ पचे सिरिफ ओनकइ लइके चलि दिहन।

दाऊद अउ ओकर मनई सिकलग आएन। अउर उ पचे नगर क बरत पाएन। ओनकई मेहरारुअन, पूतन अउ बिटियन क बन्दी बना लेइ गवा रहा अमालेकी लोग ओनका लइ गएन। दाऊद अउ ओकरी फउज क दूसर लोग तब तलक रोवत रहेन जब तलक उ सबइ थक जाइके कारण रोवइ क लायक नाहीं रहि पाएन। अमालेकी दाऊद क दुइ मेहरारू यिज्रेल क अहीनोअम अउ कमेर्ल क नाबाल क रँाड़ अबीगैल क लइ गएन।

फउज क सब लोग दुःखी अउ गुस्सान रहेन काहेकि ओनकइ बेटवा-बिटिया कइदी बनइ लीन्ह ग रहिन। उ पचे दाऊद क पाथर स मारि डावइ क सलाह करत रहेन। ऍहसे दाऊद बहोतइ घबराइ गवा। मुला दाऊद आपन यहोवा परमेस्सर मँ सक्ती पाएस। दाऊद याजक एब्यातार स कहेस, “एपोद लइ आवा।” ऍह बरे एब्यातार दाऊद बरे एपोद लइ आएस।

तब दाऊद यहोवा स पराथना किहस, “का मोका उ मनइयन क पाछा करइ चाही जउन हमरे परिवारे क उठाइ लइ ग बाटेन? का मइँ धइ लेइ?”

यहोवा जवाब दिहस, “ओनकइ पाछा करा। तू ओनका धइ लेब्या। तू आपन परिवार क बचाइ लेब्या।”

दाऊद अउ ओकर मनई मिस्री दास क धरत हीं

9-10 दाऊद आपन छ: सौ मनइयन क संग लिहस अउ उ बसोर क घाटी मँ गवा। ओहमाँ स कछू लोग उहइ ठउर प ठहर गएन। लगभग दुई सौ मनई ठहर गएन काहेकी उ पचे बहोत जिआदा थक ग रहेन अउ दुर्बल होइ जाइ स नाहीं चल सकत रहेन। ऍह बरे दाऊद अउ चार सौ मनइयन अमालेकियन क पाछा किहन।

11 दाऊद क मनइयन एक ठु मिस्री क खेत मँ लखेन। उ पचे मिस्री क दाऊद क लगे लइ गएन। उ पचे पिअइ क तनिक पानी अउ खाइ बरे भोजन दिहन। 12 उ पचे मिस्री क अंजीर क टिकिया अउ झुरान अंगूरे क दुइ गुच्छन दिहन। खइया क खाए क पाछे उ चंगा भवा। उ तीन दिन अउ तीन राति स न कछू खाए रहा अउ न ही पानी पिए रहा।

13 दाऊद मिस्री स पूछेस, “तोहार सुआमी कउन अहइ? तू कहाँ आवा ह?”

मिस्री जवाब दिहस, “मइँ मिस्री अहउँ। मइँ एक ठु अमालेकी क दास अहउँ। तीन दिना पहिले मइँ बेराम पड़ि गवा रहेउँ अउ मोर सुआमी मोका तजि दिहस। 14 हम पचे नेगव प धावा बोलि दीन्ह जहाँ करथीत रहत हीं। हम पचे यहूदा पहँटा प धावा बोलेन अउ नेगव पहँटा प जहाँ कालेब लोग रहत हीं। हम पचे सिकलग क भी बार दीन्ह।”

15 दाऊद मिस्री स पूछेस, “का तू उ मनइयन क लगे मोका पहुँचउब्या जउन हमरे परिवारे क लइ गवा अहइँ?”

मिस्री जवाब दिहस, “तू परमेस्सर क समन्वा प्रण करा कि तू मोका न मरब्या न ही मोका मोर सुआमी क हाथ मँ देब्या! जदि तू अइसा करब्या तउ मइँ ओका धरवावइ मँ तोहार मदद करब।”

दाऊद अमालेकी क हरावत ह

16 मिस्री अमालेकियन क दाऊद क हिआँ पहोंचाएस। उ पचे चारिहुँ कइँती जमीन प मधु पीतेन अउ खइया क खात ओलरा रहतेन। उ पचे पलिस्ती अउ यहूदा क पहँटा स बहोत सी चीज जउन लइ आए रहेन, उहइ स जलसा मनावत रहेन। 17 दाऊद ओनका हराएस अउ ओनका मारि डाएस। उ पचे सूरज निकरइ स अगवा दिन तक जूझेन। अमालेकियन मँ स चार सौ जवानन क अलावा जउन ऊँटे प चढ़िके परानेन कउनो नाहीं बच पावा।

18 दाऊद क आपन दुइनउँ मेहरारु फुन मिल गइन। दाऊद उ सबहिं चीजन क पाएस जेनका अमालेकी लइ ग रहेन। 19 कउनो चीज खोइ नाहीं। उ पचे सब गदेलन अउ बुढ़वन क पाइ लिहन। उ पचे आपन सब पूत अउ बिटियन क पाएन। ओनका आपन कीमती चीज मिल गइ। उ पचे आपन हर एक चीज वापस पाएन जउन अमालेकी लइ ग रहेन। दाऊद हर चीज क फुन लौटाइ लिआइ। 20 दाऊद हर भेड़ी अउ गोरु क लइ लिहस। दाऊद क मनइयन इ पसून क अगवा चलाएन। दाऊद क मनइयन कहेन, “इ सब दाऊद क ईनाम अहइँ।”

सब मनइयन क हींसा बराबर होइ

21 दाऊद हुवाँ आवा जहाँ दुई सौ मनई बेसोर क घाटी मँ ठहरा रहेन। उ उहइ मनई रहेन जउन बहोतइ थका अउ कमजोर रहेन। ऍह बरे दाऊद क संग नाहीं जाइ सकत रहेन। उ मनइयन दाऊद अउ उ सिपाहियन क सुआगत करइ बाहेर आएन जउन ओकरे संग गवा रहेन। बेसोर क घाटी मँ ठहरे भए मनइयन दाऊद अउ ओकरी फउज क बधाई दिहन जइसे ही उ निअरे आएन। 22 मुला जउन टुकड़ी दाऊद क संग गइ ओहमाँ कछू बुरा अउ परेसानी पइदा करइवाला मनई रहेन। उ परेसानी पइदा करइवालन कहेन, “इ दुई सौ मनई हम पचन क संग नाहीं गएन। ऍह बरे जउन चीज हम लइ आए अही ओहमाँ स कछू हम ऍनका न देब। इ मनइयन सिरिफ आपन मेहरारु अउ बचवन क लइ सकत हीं।”

23 दाऊद जवाब दिहस, “नाहीं मोर भइया लोगो, अइसा जिन करा। इ बिसय मँ सोचा कि यहोवा हमका का दिहे अहइ। यहोवा हम पचन क उ दुस्मन क हरावइ दिहेस ह जउन हम पचन प हमला किहस ह। 24 जउन तू कहत अहा ओका कउनो न मानी। उ मनइयन क हींसा भी, जउन बाँटइ वाली चीजन क संग ठहरा रहेन, ओतनँइ होइ जेतँना ओनका जउन जुद्ध मँ गवा रहेन। सब क हींसा बराबर होइ।” 25 दाऊद ओका इस्राएल बरे हुकुम अउ नेम बनाइ दिहस। इ नेमँ अब तलक लागू होइके चला आवा बाटइ।

26 दाऊद सिकलग मँ आवा। तब उ उ चीजन मँ स, जउन अमालेकियन स लइ लीन्ह ग रहिन, कछू चीजन क आपन मीत लोगन यहूदा क नेता लोगन क पठएस। दाऊद कहेस, “इ सब भेंट आप लोगन क उ चीजन मँ स अहइ जेनका हम पचे यहोवा क दुस्मनन स पावा ह।”

27 दाऊद उ चीजन मँ स जउन अमालेकियन स मिली रहिन, कछू जउन बेतेल क प्रमुख लोग, नेगव क रमीथ, यत्तीर, 28 अरोएर, सिपमोत, एस्तमो, 29 रकल, यरहमेलियन अउ केनि क सहरन, 30 होर्मा, बोरासान अउ अताक मँ, 31 अउ हेब्रान क पठएस। दाऊद उ चीजन मँ स कछू क ओन सबहिं ठउरन क प्रमुख लोगन क पठएस जहाँ दाऊद अउ ओकर लोग रहत रहेन।

Awadhi Bible: Easy-to-Read Version (ERV-AWA)

Awadhi Bible: Easy-to-Read Version Copyright © 2005 World Bible Translation Center

  Back

1 of 1

You'll get this book and many others when you join Bible Gateway Plus. Learn more

Viewing of
Cross references
Footnotes