A A A A A
Bible Book List

1 इतिहास 16Awadhi Bible: Easy-to-Read Version (ERV-AWA)

16 लेवीबंसी करार क सन्दूख लइ आएन। अउर ओका उ तम्बू मँ धरेन जेका दाऊद एकरे बरे खड़ी कइ रखे रहा। तब उ पचे परमेस्सर क होमबलि अउ मेलबलि चढ़ाएन। जब दाऊद होमबलि अउ मेलबलि देब पूरा कइ चुका तउ उ लोगन क आसीर्बाद देइ क बरे यहोवा क नाउँ लिहस। तब उ हर एक इस्राएली मेहरारु-मनई क एक-एक रोटी, खजूर अउ किसमिस दिहस।

तब दाऊद करार क सन्दूख क समन्वा सेवा बरे कछू लेवीबंसियन क चुनेस। ओन लेवीबंसियन क इस्राएलियन क यहोवा परमेस्सर बरे उत्सव क मनावइ, आभार परगट करइ अउ स्तुति करइ क जिम्मेदारी सौंपा गवा। आसाप, पहिले समूह क प्रमुख रहा। आसाप क समूह सारंगी बजावत रहा। जकर्याह दूसरे समूह क प्रमुख रहा। इ सबइ दूसर लेवीबंसियन रहेन: यीएल, समीरामोत, यहीएल, मत्तित्याह, एलीआब, बनायाह, ओबेद-एदोम अउ यीएल। इ सबइ मनई वीणा अउ तम्बूरा बजावत रहेन बनायाह अउर यहजीएल अइसे याजक रहेन जउन करार क सन्दूख क समन्वा सदा ही तुरही बजावत रहेन। इ उहइ समइ रहा जब दाऊद पहिली बार आसाप अउर ओकरे भाइयन क यहोवा क स्तुति करइ क काम किहस।

दाऊद क आभार गीत

यहोवा क स्तुति करा, ओकर नाउँ ल्या।
    लोगन क ओन महान कार्यन क जानकारी द्या जेनका यहोवा किहेस ह।
यहोवा क गीत गावा, यहोवा क स्तुतियाँ गवा।
    ओकर सबहिं महान कार्यन क गुणगान करा।
10 यहोवा क पवित्तर नाउँ पइ गर्व करा।
    सबहिं लोग जउन यहोवा क मदद पइ भरोसा करत हीं, खुस ह्वा।
11 यहोवा अउर ओकरी सक्ती क खोज करा।
    सदा ही मदद बरे ओकरे लगे जा।
12 ओन अजूबे कार्यन क याद करा जउन यहोवा किहेन ह।
    ओकरे निर्णयन क याद राखा अउर सक्ती स भरपूर कार्यन क जउन उ किहेस।
13 इस्राएल क सन्तानन यहोवा क सेवक अहइँ।
    याकूब क पूतन यहोवा क जरिये चुने गए लोग अहइँ।
14 यहोवा हमार परमेस्सर अहइ,
    ओकर नेमन सबहिं जगह अहइ।
15 ओकरी करार क सदा ही याद राखा,
    उ अपने आदेसन हजार पीढ़ियन बरे दिहेस ह।
16 इ करार अहइ जेका यहोवा इब्राहीम क संग किहे रहा।
    इ करार अहइ जउन यहोवा इसहाक क संग किहेस।
17 यहोवा एका याकूब क लोगन क बरे कानून बनाएस।
    इ करार इस्राएल क संग अहइ जउन सदा ही बनी रही।
18 यहोवा इस्राएल स कहे रहा: “मइँ कनान देस तोहका देब इ प्रतिग्या क
    पहँटा तोहार ही होइ।”

19 परमेस्सर क लोग गनती मँ थोड़े रहेन।
    उ पचे उ देस मँ अजनबी रहेन।
20 उ पचे एक रास्ट्र स दूसर रास्ट्र क गएन।
    उ पचे एक राज्ज स दूसर क गएन।
21 मुला यहोवा कउनो क ओनका चोट पहोंचवइ न दिहस।
    यहोवा राजा लोगन क चितउनी दिहस कि उ पचे ओनका चोट न पहोंचावइँ।
22 यहोवा ओन राजा लोगन स कहेस, “मोर चुने लोगन क चोट न पहोंचावा।
    मोरे नबियन क चोट न पहोंचावा।”
23 यहोवा बरे सारी धरती पइ गुनगान करा,
    हर रोज तू पचन्क यहोवा क जरिये हमार रच्छा क सुभ समाचार परगट करइ चाही।
24 यहोवा क प्रताप क सबहिं रास्ट्रन स कहा
    यहोवा क अजूबे कार्यन क सबहिं लोगन स कहा।
25 यहोवा महान अहइ, यहोवा क स्तुति होइ चाही
    यहोवा दूसर “देवतन” स अधिक भए जोग्ग अहइ।
26 काहेकि ओन रास्ट्रन सबहिं “देवता” मात्र मूरतियन अहइँ।
    मुला यहोवा आकासे क बनाएस।
27 यहोवा महिमा अउ सम्मान रखत अहइ।
    ताकत अउर आनन्द ओकर जगह मँ मोजूद अहइ।
28 परिवार अउ लोग यहोवा क महिमा
    अउ सक्ती क स्तुति करत हीं।
29 यहोवा क प्रताप क स्तुति करा।
ओकरे नाउँ क सम्मान द्या।
    यहोवा क अपनी भेंटन चढ़ावा,
    यहोवा अउ ओकर पवित्तर सुन्दरता क उपासना करा।
30 यहोवा क समन्वा भय स सारी धरती काँपइ चाही।
    किन्तु उ धरती क मजबूत बनाएस।
    एह बरे धरती हिली नाहीं।
31 धरती अउ आकासे क आन्नद मँ झूमइ द्या।
    चारिहुँ कइँती लोगन क कहइ द्या, “यहोवा सासन करत ह।”
32 सागर अउ एहमाँ क सबहिं चिचियन क चिचयाइ द्या।
    खेतन अउ ओनमाँ क हर एक चीज क आपन आनन्द परगट करइ द्या।
33 यहोवा क समन्वा बन क बृच्छ आनन्द स गइहीं।
काहेकि यहोवा आवत अहइ।
    उ संसार क निआव करइ आवत बाटइ।
34 अहा! यहोवा क धन्य द्या, उ अच्छा अहइ।
    यहोवा क पिरेम सदा बना रहत ह।
35 यहोवा स कहा,
    “हे परमेस्सर, हमरे रच्छक, हमार रच्छा करा।
हम लोगन क एक संग बटोरा,
    अउर हमका द्सर रास्ट्रन स बचावा।
अउर तब हम तोहरे पवित्तर नाउँ क स्तुति कइ सकित ह।
    तब हम तोहरे स्तुति अपने गीतन स कइ सकित ह।”
36 इस्राएल क यहोवा परमेस्सर क सदा स्तुति होत रहइ
    जइसे कि सदा ही ओकर बड़कई होत रहत ह।

सबहिं लोगन कहेन, “आमीन!” उ पचे यहोवा क स्तुति कहेन।

37 तब दाऊद आसाप अउ ओकरे भाइयन क हुवाँ यहोवा क करार क सन्दूख क समन्वा छोड़ेस। दाऊद ओनका ओकरे समन्वा हर रोज सेवा करइ बरे छोड़ेस। 38 दाऊद आसाप अउर ओकरे भाइयन क संग सेवा करइ बरे ओबेद-एदोम अउर दूसर अड़सठ लेबीबंसियन क छोड़ेस। ओबेद-एदोम अउर होसा रच्छक रहेन। ओबेद-एदोम यदूतून क पूत रहा।

39 दाऊद याजक सादोक अउ दूसर याजकन क जउन गिबोन मँ ऊँची जगह पइ यहोवा क तम्बू क समन्वा ओकरे संग सेवा करत रहेन ओकर संग छड़ेस। 40 हर भिंसारे अउ साँझ सादोद अउ दूसर याजक होमबलि क वेदी पइ होमबलि चढ़ावत रहेन। उ पचे इ यहोवा व्यवस्था मँ लिखे गए ओन नेमन क पालन करइ बरे करत रहेन जेनका यहोवा इस्राएल क दिहे रहा। 41 हेमान अउ यदूतून अउ सबहिं दूसर लेवीबंसियन यहोवा क स्तुतिगान करइ बरे नाउँ लइके चुने गए रहेन, काहेकि “ओकर पिरेम सदा ही बना रहत ह।” 42 हेमान अउ यदूतून ओनके संग रहेन। ओनकर काम तुरही अउ मँजीरा बजाउब रहा। उ पचे दूसर संगीत बाजा बजावइ क काम भी करत रहेन, जब परमेस्सर क स्तुति क गीत गाए जात रहेन। यदूतून क पूतन दुआरन क रच्छा करत रहा।

43 उत्सव मनावइ क पाछे, सबहिं लोग चले गएन। हर एक मनई अपने-अपने घर चला गवा अउर दाऊद भी अपने परिवार क आसीर्बाद देइ बरे घर गवा।

Awadhi Bible: Easy-to-Read Version (ERV-AWA)

Awadhi Bible: Easy-to-Read Version Copyright © 2005 World Bible Translation Center

  Back

1 of 1

You'll get this book and many others when you join Bible Gateway Plus. Learn more

Viewing of
Cross references
Footnotes