A A A A A
Bible Book List

व्यवस्था विवरण 31Awadhi Bible: Easy-to-Read Version (ERV-AWA)

यहोसू नवा नेता होइ

31 तब मूसा अगवा बढ़ा अउ इस्राएलियन स इ सबइ बातन कहेस। मूसा ओनसे कहेस, “अब मइँ एक सौ बीस बरिस क अहउँ। मइँ अब आगे तोहार नेता क अगुवाइ नाहीं कइ सकत हउँ। यहोवा मोसे कहेस ह: ‘तू पचे यरदन नदी क पार नाहीं जाब्या।’ यहोवा तोहार परमेस्सर तोहरे आगे चली। उ इ सबइ रास्ट्रन क तोहरे पचन्क बरे बरबाद करी। तू पचे ओनकर देस ओसे हर लेब्या। यहोसू ओह पार तू लोगन क अगवा चली। यहोवा इ कहेस ह।

“यहोवा इ रास्ट्रन क लोगन क संग उहइ करी जउन उ एमोरियन क राजा लोगन सीहोन अउ ओग क संग किहस। ओन राजा लोगन क देस क संग उ जउन किहस उहइ हिआँ करी। यहोवा ओनकर प्रदेसन क बरबाद किहस। अउर यहोवा तू पचन्क ओन रास्ट्रन क हरावइ देइ अउर तू पचे ओनके संग उ सब करब्या जेका करइ बरे मइँ कहेउँ ह। मजबूत अउ हिम्मती बना। इ सबइ रास्ट्रन स डेराअ जिन। काहेकि यहोवा तोहार परमेस्सर तोहरे संग जात अहइ। उ तू पचन्क न छोड़ी अउ तजी।”

तब मूसा यहोसू क बोलाएस। जउने समइ मूसा यहोसू स बातन करत रहा ओह समइ इस्राएल क सबहिं लोग लखत रहेन। जब मूसा यहोसू स कहेस, “मजबूत अउ हिम्मती बना। तू इ सबइ लोगन क उ देस मँ लइ जाब्या जेका यहोवा ऍनकइ पुरखन क देइ क बचन दिहे रहा। तू इस्राएल क लोगन क मदद उ देस क लेइ अउ आपन बनावइ मँ करब्या। यहोवा आगे चली। उ खुद तोहरे संग अहइ। उ तू पचन्क न मदद देब बन्द करी, न ही तू पचन्क छोड़ी। तू न ही डेरान अउ फिकिर मँ रहब्या।”

मूसा व्यव्सथा लिखत ह

तब मूसा इ कानून क लिखेस अउ लेवी क सन्तान याजक क अउर इस्राएल क सबइ बुजुर्गन क दइ दिहस। ओनकर काम यहोवा क करार क सन्दूखे क लइ चलब रहा। 10 मूसा ओनका आदेस दिहस, “हर सात बरिस पाछे, कुटीर क त्यौहार मँ इ सबइ नेमन क बाँचा। 11 उ समइ इस्राएल क सबहिं लोग यहोवा, आपन परमेस्सर स मिलइ बरे उ खास ठउरे पइ अइहीं जेका उ पचे चुनिहीं। तब तू लोगन मँ इ सबइ कानून क अइसे बाँचब जेहसे उ पचे सुनि सकइँ। 12 सबहिं लोगन, मनसेधुअन, मेहररुअन, नान्ह गदेलन अउ आपन नगरन मँ रहइवाले सबहिं प्रवासियन क बटोरा। उ पचे नेमन क सुनिहीं, अउर उ पचे यहोवा तोहरे परमेस्सर क आदर करब सिखिहीं अउर उ पचे इ नेमन क सब्दन क मानइ मँ होसियार रइहीं 13 अउर तब ओनकी संतानन जउन नेमन नाहीं जानत ह, ऍका सुनिहीं अउर उ पचे यहोवा तोहरे परमेस्सर क सम्मान करब सिखिहीं। उ पचे तब तलक सम्मान करिहीं जब तलक तू पचे उ देस मँ रहब्या जेका तू पचे यरदन नदी क ओह पार लेइ बरे तइयार अहा।”

यहोवा मूसा अउ यहोसू क बोलावत ह

14 यहोवा मूसा स कहेस, “अब तोहरे मरइ क समइ निचके आइ ग अहइ। यहोसू क ल्या अउ मिलापवाला तम्बू मँ जा। मइँ यहोसू क बताउब कि उ का करइ।” एह बरे मूसा अउ यहोसू मिलापवाला तम्बू मँ गएन अउर आपन क उपस्थित किहेस।

15 यहोवा बदरन क एक ठु खम्भा क रुप मँ परगट भवा। बदरे क खम्भा तम्बू क दुआरे पइ ठाड़ रहा। 16 यहोवा मूसा स कहेस, “तू हाली ही मरब्या अउर जब तू आपन पुरखन क संग चला जाब्या तउ इ सबइ लोग मोह पइ बिस्सास नाहीं करब्या। उ पचे उ वाचा क तोड़ देइहीं जउन मइँ ऍनकइ संग किहे अहउँ। उ पचे मोका छोड़ देइहीं। अउर दूसर देवतन क पूजा करब सुरु करिहीं, ओन प्रदेसन क बनावटी देवतन क जेनमाँ उ पचे जइहीं। 17 उ समइ, मइँ ऍन पइ बहोत कोहाइ जाब अउर ऍनका छोड़ देब। मइँ ओनकी मदद करब बन्द करब अउर उ पचे बरबाद होइ जइहीं। ओनके संग भयंकर सबइ घटना होइहीं अउर उ पचे विपत्ति मँ पड़िहीं। तब उ पचे कइहीं, ‘इ सबइ बुरी सबइ घटना हम पचन्क संग एह बरे होति अहइँ कि हमार परमेस्सर हमरे संग नाहीं अहइ।’ 18 तब मइँ आपन चेहरा ओन लोगन स छुपाइहीं काहेकि उ पचे बुरा कार्य करिहीं अउर दूसर देवतन क पूजा करिहीं।

19 “एह बरे इ गीत क लिखा अउर इस्राएली लोगन क सिखावा। ओनका इ गाइ द्या। इ इस्राएल क लोगन क खिलाफ मोरे बरे साच्छी रही। 20 मइँ ओनका उ देस मँ जउन मँ दूध अउर सहद बहत ह अउ जेका देइ क वचन मइँ ओनके पुरखन क दिहेउँ ह लइ जाब अउर उ पचे संतुट्ठ होइ तलक खाब्या। उ पचे अमीरी स भरी जिन्नगी बितइहीं। मुला ऍकर बाद उ पचे दूसर देवतन क पूजा अउर ओनकर सेवा करिहीं। उ पचे मोसे मुँहना फेरि लेइहीं अउर मोर वाचा क तोड़िहीं, 21 तब ओन पइ भयंकर आपदा अइहीं अउर उ पचे बड़ी मुसीबत मँ होइहीं। उ समइ ओनके लोग इ गीत क तब भी जनिहीं अउर इ ओनका बताइ कि उ पचे केतॅनी भूल पइ अहइँ। मइँ अभी तलक ओनका उ देस मँ नाहीं पहोंचाएउ हउँ जेका ओनका देइ क बचन मइँ दिहेउँ ह। मुला मइँ पहिले स ही जानत हउँ कि उ पचे हुआँ का करइवाला अहइँ, काहेकि मइँ ओनकी आदत स परिचित अहउँ।”

22 एह बरे मूसा उहइ दिन गीत लिखेस अउ उ गीत क इस्राएल क लोगन क सिखाएउँ।

23 तब यहोवा नून क पूत यहोसू स बातन किहस। यहोवा कहेस, “मजबूत अउ हिम्मती बना। तू इस्राएल क लोगन क उ देस मँ लइ चलब्या जेका ओनका देइ क वचन मइँ दिहेउँ ह अउर मइँ तोहरे संग रहब।”

मूसा इस्राएल क लोगन क चिताउनी देत ह

24 मूसा इ सारे नेमन क सब्दन क एक ठु किताबे मँ लिखेस। जब उ ऍका पूरा कइ लिहस तब 25 उ लेवीबंसियन क आदेस दिहस (सबइ लोग यहोवा क करार क सन्दूखे क देख-रेख करत रहेन।) मूसा कहेस, 26 “इ व्यवस्था क किताबे क ल्या अउर यहोवा, आपन परमेस्सर क करार क सन्दूखे क बगल मँ धरा। तब इ हुआँ तोहरे खिलाफ साच्छी होइ। 27 मइँ जानत हउँ कि तू बहोतइ अड़ियल अहा। मइँ जानत हउँ तू मनमानी करइ चाहत अहा। धियान द्या, आजु जब मइँ तोहरे संग हउँ तब भी तू यहोवा क आग्या मानइ स मना किह्या ह। मोरे मरइ क पाछे तू यहोवा क आग्या मानइ स अउर जियादा इन्कार करब्या। 28 आपन सबहिं परिवार समूहन क प्रमुखन अउ अफसरन क एक संग बोलावा। मइँ ओनका इ सब कछू बताउब अउर मइँ पृथ्वी अउ अकास क ओनके खिलाफ साच्छी होइ बरे बोलाउब। 29 मइँ जानत हउँ कि मोर मउत क पाछे तू सबइ लोग पूरी तरह भ्रस्ट होइ जाब्या। तू पचे उ राहे स बगद जाब्या जेह पइ चलइ क आदेस मइँ दिहेउँ ह। तब भविस्स मँ तोहे सबन पइ आपदा अइहीं। काहेकि तू पचे उ करइ चाहत अहा जेका यहोवा बुरा बतावत ह। तोहार बुरा काम करइ क कारण उ पचे तोहस कोहाइ जाब्या।”

मूसा क गीत

30 तब मूसा इस्राएल क सबहिं लोगन क गीत सुनाएस। उ तब तलक नाहीं रुका जब तलक उ ऍका पूरा नाहीं कइ लिहस।

Awadhi Bible: Easy-to-Read Version (ERV-AWA)

Awadhi Bible: Easy-to-Read Version Copyright © 2005 World Bible Translation Center

  Back

1 of 1

You'll get this book and many others when you join Bible Gateway Plus. Learn more

Viewing of
Cross references
Footnotes