A A A A A
Bible Book List

लैव्यव्यवस्था 7Awadhi Bible: Easy-to-Read Version (ERV-AWA)

दोखबलि

“दोखबलि खातिर इ नेम बाटइ। इ सबइ स पवित्तर अहइ। याजक क दोखबलि क उहइ ठउरे पइ मारइ चाही जउने प उ सबइ होमबलि क मारत ह अउ ओका ऍकर रकत क वेदी क चारिहुँ कइँती जरूर डावइ चाही।

“याजक क दोखबलि क सारी चबीर् चढ़ावइ चाही। ओका चबीर् भरी पूँछ, भीतरी भाग क ढकइवाली चबीर्, दुइनउँ गुर्दन अउ ओकरे ऊपर क चबीर्, पुट्ठन क चबीर् जरूर भेंट करइ चाही। अउ करेजा क संग क झिल्ली जउन ओकर संग चिपकी भइ चबीर् अहइ गुर्दन क संग जरूर हटावइ चाही। याजक क वेदी प ओन सबहिं चीजन क जरूर बारइ चाही। इ यहोवा बरे उपहार भेंट होइ। इ दोखबलि अहइ।

“याजक परिवार स हर एक मरद दोखबलि खाइ सकत ह। एकॉ बहोतइ पवित्तर ठउर पइ खाइ चाही इ बहोतइ पवित्तर बाट्इ। दोखबलि क सबइ नेम पापबलि क नेम क जइसा अहइँ। इ भेंट उ याजक क होइ जउन ऐसे ओकर बरे पछतावा करी। उ याजक, जउन बलि चढ़ावत ह, चमड़ा भी होमबलि स लइ सकत ह। हर एक अन्नबलि चढ़ावइवाला याजक क होत ह। याजक ओन सबइ अन्नबलि क लइ लेइ जउन चूल्हा मँ पकाई गइ होइँ, या कड़ाही मँ पकाइ गइ होइँ या तावा प पकी होइँ। 10 अन्नबलि हारून क बेटवन क होइ। ओसे कउनो फकर् नाहीं पड़ी कि उ सबइ झुरान या तेल स सनी भइ अहइँ। हारून क बेटवन याजक क नाई भागीदार होइहीं।

मेलबलि

11 “इ सबइ मेलबलि क नेम अहइँ, जेका कउनो मनई यहोवा क चढ़ावत ह: 12 कउनो व्यक्ति मेलबलि आपन एहसान परगट करइ बरे लई आइ सकत ह। अगर एक व्यक्ति एहसान परगट करइ बरे बलि लिआवत ह तउ ओका तेल स सना भवा अखमीरी फुलका, अखमीरी केक अउ तेल स सना भवा उत्तिम आटा क फुलका भी लिआवइ चाही। 13 उ व्यक्ति क आपन मेलबलि बरे खमीरी रोटियन क साथ आपन बलि जरूर लइ आवइ चाही। इ मेलबलि अहइ जेका एक व्यक्ति यहोवा बरे एहसान देखावइ बरे लिआवत ह। 14 ओन रोटियन मँ स एक ठु उ याजक क दुआरा लइ जाइ जउन मेलबलि क रकत क छिछकारत ह। 15 इ मेलबलि क गोस उहइ दिन खावा जाइ चाही जउने दिन उ चढ़ावा जाइ। एक व्यक्ति परमेस्सर बरे एहसान परगट करइ बरे इ भेंट चढ़ावत ह। मुला तनिकउ भी गोस दुसर भिन्सारे बरे जरूर नाहीं बचइ चाही।

16 “एक व्यक्ति मेलबलि यहोवा क उपहार देइ क इरादे स लइ आइ सकत ह या उ वादा क पूरा करइ बरे जेका उ पिहले परमेस्सर स किहस ह। अगर इ सच अहइ तउ बलि उहइ दिन खाई जाइ चाही जउने दिन उ ऍका चढ़ावइ। जदि कछू बच जाइ तउ अगले दिना जरूर खाइ लेइ चाही। 17 मुला अगर इ बलि क कछू गोस फिन भी तीसरे दिन बरे बचि जाइ तउ ओका आगी मँ बारि देइ चाही। 18 अगर कउनो मनई मेलबलि क गोस तीसरे दिन भी खात ह, तउ यहोवा उ मनई स खुस नाहीं होइ। यहोवा उ बलि बरे कउनो सम्मान नाहीं देई। इ बलि एक असुद्ध वस्तु बन जाई। अगर कउनो उ बलि क खात ह तउ उ आपन पाप बरे उत्तरदायी होइ।

19 “लोगन क अइसा गोस भी नाहीं खाइ चाही जेका कउनो असुद्ध वस्तु छुइ लेइ। ओनका इ गोस क आगी मँ बारि देइ चाही। उ पचे सबहिं मनइयन जउन सुद्ध होइँ इ मेलबलि क गोस खाइ सकत हीं। 20 मुला अगर एक व्यक्ति अपवित्तर अहइ अउ यहोवा क मेलबलि मँ स कछू गोस खाइ लेइ, तउ उ व्यक्ति क ओकरे लोगन स निकाल दीन्ह जाहीं।

21 “अगर एक व्यक्ति मानव जाति क असुद्ध चीज क या एक असुद्ध जनावरन क या कउनो असुद्ध घृणित वस्तु क छुअत ह अउ अगर उ यहोवा बरे मेलबलि क कछू गोस खाइ लेत ह तउ उ व्यक्ति क ओकरे लोगन मँ स जरूर निकाल कइ दीन्ह जाइ।”

22 यहोवा मूसा स कहेस, 23 “इस्राएल क मनइयन क सलाह देइ कि तू लोगन क गाइ, भेड़ी अउ बोकरी क चबीर् नाहीं खाइ चाही। 24 तू पचे उ पसु क चबीर् क प्रयोग कइ सकत ह जउन खुद ही मरा होइ या दूसर जनावरन क जरिये मार दीन्ह ग होइ। मुला तू उ पसु क चबीज्र्ि कबहुँ नाहीं खाया। 25 जदि कउनो मनई अइसा पसु क चबीर् खात ह जउन यहोवा क उपहार क रूप चढ़ावा ग होइ, तउ उ लोग क ओकरे मनइयन स निकाल दीन्ह जाइ।

26 “तू पचे चाहे जहाँ कहुउँ भी रहा, तू पचन क कउनो पंछी या पसु क रकत कबहुँ नाहीं खाइ चाही। 27 अगर कउनो व्यक्ति कछू रकत खात ह, तउ उ व्यक्ति क ओकर लोगन स निकाल दीन्ह जाइ।”

उत्तोलन बलि क नेम

28 यहोवा मूसा स कहेस, 29 “इस्राएल क लोगन स कहा: अगर कउनो व्यक्ति यहोवा बरे मेलबलि लइ आवइ, तउ उ मनई क उ भेंट क एक हींसा यहोवा क जरूर देइ चाही। 30 ओका उ भेंट क उ हींसा आपन हाथे मँ यहोवा बरे लइके चलइ चाही। ओका पसु क चबीर् अउ छाती याजक बरे लइके चलइ चाही। छाती क यहोवा क समन्वा ऊपर हिलावा जाइ चाही। इ उत्तोलन बलि होइ। 31 तब याजक क वेदी पइ चबीर् बारइ चाही। मुला पसु क छाती हारून अउ ओकर पूतन क होइ। 32 मेलबलि स दाहिन जाँघ हारून क पूतन मँ स याजक क जरूर देइ चाही। 33 मेलबलि मँ स दाहिन जाँघ उ याजक क होइ जउन मेलबलि क चबीर् अउ रकत मेलबलि बरे चढ़ावत ह। 34 मइँ (यहोवा) उत्तोलन बलि क छाती अउ मेलबलि क दाहिन जाँघ इस्राएल क मनइयन स अंगीकार किहे हउँ अउ मइँ ओन चीजन क हारून अउ ओकरे बेटवन क देत अहउँ। इस्राएल क लोगन क जरिये इ नेम क सदा-सदा पालन कीन्ह जाइ चाही।”

35 यहोवा बरे दीन्ह गइ उपहार हारून अउ ओकरे पूतन क अहइ, जब कबहुँ हारून अउ ओकरे पूतन यहोवा क याजक क रुप मँ सेवा करत हीं तब उ पचे बलि क उ हींसा पावत हीं। 36 जउने समइ यहोवा याजकन क अभिसेक किहेस उहइ समइ उ पचे इस्राएल क लोगन क उ सबइ हींसा याजकन क देइ क हुकुम दिहेस। उ सबइ हींसा हमेसा याजकन क ओकर भाग क रूप मँ दीन्ह जाइ क अहइँ।

37 इ सबइ होमबलि, अन्नबलि, पापबलि, दोखबलि, याजकन क नियुक्ति, अउ मेलबलि क नेम अहइँ। 38 यहोवा सिनाई पहाड़े पइ इ सबइ नेम मूसा क दिहस। यहोवा इ सबइ नेम ओह दिन दिहस जउने दिन उ इस्राएल क मनइयन क सिनाई रेगिस्तान मँ यहोवा बरे आपन भेंट लिआवइ क हुकुम दिहे रहा।

Awadhi Bible: Easy-to-Read Version (ERV-AWA)

Awadhi Bible: Easy-to-Read Version Copyright © 2005 World Bible Translation Center

  Back

1 of 1

You'll get this book and many others when you join Bible Gateway Plus. Learn more

Viewing of
Cross references
Footnotes